बदायूं गैंगरेप पर चौतरफा घिरी अखिलेश सरकार

उत्तर प्रदेश के बदायूं में दो दलित लड़कियों के गैंगरेप और मर्डर केस में अखिलेश सरकार चौतरफा घिर गई है। बीजेपी, कांग्रेस और बीएसपी की ओर से जहां उस पर लगातार हमले जारी हैं, वहीं इस मामले की गूंज संयुक्त राष्ट्र तक में सुनाई दी है। संयुक्त राष्ट्र ने इसे भयानक अपराध करार दिया है। शनिवार सुबह इस मामले के पांचवें आरोपी को भी दबोच लिया गया। उधर, लड़कियों के पिता ने आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की है।

संयुक्त राष्ट्र ने बताया भयानक अपराधः संयुक्त राष्ट्र ने इस वारदात को भयानक अपराध करार दिया है। उसने जोर देकर कहा है कि कानून के तहत सभी नागरिकों की रक्षा होनी चाहिए। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के प्रवक्ता स्टीफन डुआरिक ने कहा कि दो लड़कियों के साथ बलात्कार और उनकी हत्या एक भयानक अपराध है। इस तरह की घटनाओं पर कहने के लिए कुछ शब्द नहीं मिल रहा। निश्चित तौर पर यह एक भयानक घटना है। उन्होंने कहा कि हर पुरुष, हर महिला की कानून द्वारा रक्षा होनी चाहिए।

 

राहुल गांधी जाएंगे बदायूं: गैंगरेप की शिकार हुईं दो चचेरी बहनों के परिवार वालों से मिलने के लिए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार दोपहर बदायूं पहुंचेंगे। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस सचिव प्रकाश जोशी भी रहेंगे। राहुल दोपहर करीब दो बजे उसहैत गांव पहुचेंगे। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता जीशान हैदर ने इसकी जानकारी दी। वहीं कांग्रेस नेता मीम अफजल ने कहा यूपी में लॉ ऐंड ऑर्डर की स्थिति को बहुत खराब बताया है। उन्होंने कहा कि मुलायम के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में भी रेप की घटना सामने आई है। उन्होंने कहा कि सरकार को सख्ती बरतनी चाहिए।

पांचवां आरोपी भी गिरफ्त में: इस भारी दवाब के बाद यूपी पुलिस ने शुक्रवार रात और शनिवार तड़के दो और आरोपियों को अरेस्ट किया। इस केस के सभी पांच प्रमुख अभियुक्त अब पुलिस की पकड़ में आ चुके हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि वारदात के आरोपी हेड कॉन्स्टेबल छत्रपाल यादव को शनिवार देर रात गिरफ्तार किया गया, जबकि पांचवें आरोपी सर्वेश यादव को शनिवार तड़के दबोचा गया। इस तरह अब तक मामले के पांचों प्रमुख आरोपियों हेड कॉन्स्टेबल छत्रपाल, कॉन्स्टेबल सर्वेश यादव तथा गांव के दबंगों पप्पू यादव, अवधेश यादव और सर्वेश यादव को गिरफ्तार किया जा चुका है। मामले में कुल सात के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। इनमें से दो अज्ञात हैं।