गीतिका/ग़ज़ल

न जाने क्यों….

न जाने क्यों तुम हरदम रहते बेजुबान से हो अब तक न सुनी न कही गयी दास्तान से हो अफ़सोस तेरे बारे में जान न पाया कुछ भी पर तुम तो मेरे प्रणय गीत के उन्वान से हो टूटे तारे सा जमीं पर बिखर गया हूँ तो  क्या तुम लगते मुझे ,  इंद्रधनुषी आसमान से हो ताउम्र जीकर  भी […]

कहानी

रधिया- एक देवदासी – 1

रधिया तेरह साल की एक बहुत ही गरीब परिवार की लड़की थी , जब वह पांच साल की थी तो उसकी माँ गुजर गई , उसकी एक छोटी बहन जो दस साल की थी गीता जिसे गितवा कह के पुकारते थे । रधिया का पिता संतू जिसको दो साल पहले आधे अंग में लकवा मार […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

कौन है ईश्वर?

मित्रो, आप यह तो भली प्रकार जानते हैं की भारतीय समाज चार वर्णों पर आधारित रहा है। यह घोषणा की गई है की परमात्मा ने अपने मुख,भुजाओ,पेट, और पैरो से ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शुद्र वर्ण को उत्पन्न किया । इसी चतुर्थ वर्ण व्यवस्था के कारण एक वर्ग देवता( भूसुर) कहलाये तो दूसरा पशुओ से […]

हास्य व्यंग्य

हास्य गीतिका

कम उमर में बाल आधे झड़ गये। ब्रश किया पर दाँत पीले पड़ गये। उनके घर की ओर जब निकले कदम, ऑटोवाले रास्ते में लड़ गये। और कितना जिंदगी तड़पाएगी, गलियों के कुत्ते भी पीछे पड़ गये। बिस्किटोंपर डेट था ताजा लिखा, जाने भीतर में ही कैसे सड़ गये। बेल्ट लोकल था छलावा कर गया, […]

उपन्यास अंश

आत्मकथा : मुर्गे की तीसरी टांग (कड़ी 39)

अध्याय-12 : बदलते रास्ते जो था मेरा हाले दिल वो बयां हुआ जुबां से। जो कहेंगे अश्के-रंगी वो अलग है दास्तां।। गाड़ी प्रातः 9 बजे लखनऊ के प्लेटफार्म पर आकर खड़ी हो गयी। उस दिन 26 मई थी। रास्ते भर मैं एक मिनट भी लेटा नहीं था। बैठा ही रहा था। नींद मुझे बुरी तरह […]

कविता

साये सा ….

  तुम्हारी रगों में रक्त की तरह प्रवाहित होता रहता हूँ तुम्हारे मष्तिष्क में साये सा उपस्थित रहता हूँ मुझे तुम भूल नहीं पाते रुमाल या किताब या चाबी के बहाने मुझे तलाशते ही रहते हो तुम्हे हर पल ऐसा लगता है जैसे कोई किमती वस्तु खो गयी है सरक कर धुप के करीब आते […]

कविता

पिता चले गए

पिता चले गए साथ अपने ले गए ज्यों सारी ऋतुएं खुशहाली ,तीज त्यौंहार छोड़ गए साए में अनमने उम्र काटते दिन पूजा घर से अब नहीं उठती धूप,अगरबत्ती की खुशबू न ही गूंजता शंखनाद नहीं उच्चारित होते महामृत्युंजय के जाप नब्जों में ठहर गई वो तमाम दुआएं नित करती थी जो बेटियां उनकी सलामती के […]