हाइकु/सेदोका

हाइकू

1.छोड़ न जाना
दुःख और सुख में
साथ निभाना.

2.लौटा के मेरा
बचपन सुहाना
हंसा दे कोई.

3.कभी हंसातीं
भूली बिसरी यादें
कभी रुलातीं.

4.हमें रुलातीं
भूली बिसरी यादें
जब भी आतीं.

5.यही है सच
अग्नि है प्रचंड
क्रोध से बच.

6 thoughts on “हाइकू

Leave a Reply