Monthly Archives: August 2015


  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    ये दस्तंदाजियां ये करावतें हर लम्स पे ज़हन का पहरा है सुरखुरु फिर भी मोहब्बत और जख्म गहरा है ये कैसी गुरवतें ये चाहते है क़ज़ा या राज़ कोई गहरा है वक़्त बदला नहीं न शीशा...

  • रक्षाबंधन

    रक्षाबंधन

    दोहा: आया है त्योहार यह ख़ुशियाँ लिये अपार राखी बांधे बहन जब ‘भान’ करें सत्कार ० नज़्म ० पावन रक्षाबंधन आया देखो प्रेम-सगाई को भाई और बहन के अद्भुत रिश्तों की गहराई को स्नेह-सिक्त धागे में...

  • भाई का प्यार है राखी

    भाई का प्यार है राखी

    बहुत ही सुन्दर और प्यारा त्यौहार है ये रक्षाबंधन का, एक भाई-बहन के बिच का छिपा हुआ प्यार है रक्षाबंधन का, इस दिन सभी भाईयो पर दुआओं की बौछार होती है, बदले में बहन उनसे अपनी...

  • अनमोल है राखी

    अनमोल है राखी

    नाजुक रेशे से बनी हुई है लेकिन कभी ना टूटने वाली एक पक्की डोर है राखी, बहनो का प्यार और भाईयो का विश्वास है राखी, यह कोई मतलब से बनाया हुआ रिश्ता नहीं बल्कि, बहनो के...

  • सेदोको

    सेदोको

      १ निष्ठा राखी मैं रोली – अक्षत संग भेजती भैया प्यारे निभाना रिश्ता कृष्ण बन बचाना जग स्त्रियों की लाज। २ बांधें राखियां अब स्त्री को हर स्त्री बचाना स्वयं चीर दुःशासनों से उठा भुजा...

  • हाइकु

    हाइकु

    १ दुआ की राखी करे दीर्घायु भाई करूँ कामना। २ राखी की रस्म प्रेम की पक्की डोर सजी कलाई। ३ श्रावणी पूनो पे बंधे नेह तार खिला है प्यार। ४ वैश्विक राखी हुई ऑन लाइन सलूनों...