धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

ईश्वर के प्रति मनुष्य का मुख्य कर्तव्य

ओ३म् –नये वर्ष का प्रथम दिन शुभ संकल्प लेने का दिन है-   हमें हमारे माता-पिता इस संसार में लाये। जब हम जन्में तब हमें अपना, परिवार, समाज व संसार का किंचित ज्ञान नहीं था। माता की निकटता और प्रेरणाओं से हम शनैः शनैः ज्ञान से युक्त होने लगे। माता-पिता के हमारे प्रति किए गये […]

कविता

नव वर्ष 2016

नव वर्ष हमारा ऐसा हो— जीवन का हर पल सुखदायी हो, हर घर आँगन खुशियां छाईं हों , ममता का आँचल फैला हो, घर में बहारों का मेला हो, हर बच्चा फूल के जैसा हो— नव वर्ष हमारा ऐसा हो— हर बड़े का घर में आदर हो , दिल प्यार भरा इक सागर हो, हर […]

गीत/नवगीत

नया साल

  ये अलसाई आँखों में सपने सजाकर, नया साल आया, नया साल आया कि माज़ी के हर दर्दो-ग़म को भुलाकर, नया साल आया, नया साल आया कि शबनम से धरती नहाई हुई है उमंगों की ख़ुश्बू समाई हुई है क्षितिज पर उषा-रश्मि-चादर बिछाकर, नया साल आया, नया साल आया ये झील और झरने, ये मौसम […]

कविता

***************झील***************

झील ऊपर से दिखती कितनी शांत पर क्या वाकई है वो इतनी शांत, कितने अक्स कितनी परछाईयां कितनी ज़िन्दगी कितनी सच्चाइयाँ, छुपाये अपने सीने में मौन सोच रही है अपना है कौन ? रोज़ बनता बिगड़ते बिम्ब प्रतिबिम्ब उठती गिरती रौशनी की परछाईयां, हवा के बहने पर सतह पर बहती लहरों का बनना बिगडना पास […]

लघुकथा

~~सब तन कपड़ा ~~

‘एक तो घर में जगह नहीं उप्पर से नये कपड़े चाहिए पर पुराने किसी को देने को कहो तो मुहं बनता | ‘ भुनभुनाते हुए थैले सहेजती | पुराने थैले को खोल देखती फिर छाँट कर एक-दो कपड़े निकाल बच्चों को पहनने को कहती | लेकिन अलमारी के कोने में हफ्तों से अनछुआ पड़ा देख […]