Monthly Archives: March 2016

  • गीत : कायर दिल्ली वालों को

    गीत : कायर दिल्ली वालों को

    (दिल्ली में बांग्लादेशी मुसलमानों की भीड़ द्वारा मारे गए बेकसूर डॉ पंकज नारंग की घटना पर सभी को जगाने का प्रयास करती मेरी कविता) दरबारों में ख़ामोशी है, हल ना मिला सवालों को, आज दादरी चिढ़ा...


  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    अपना दामन जब सी लेंगे कल को हम, तेरे  आँसू   भी  पोछेंगे   कल  को  हम। माज़ी  से   कुछ   पूछेंगे,   कुछ  सोचेंगे, वाजिब पाया तो दिल देंगे कल को हम। पीछे  रह...


  • गीत : देशभक्ति

    गीत : देशभक्ति

    बिना रीढ़ की हड्डी के किसी आदमी जैसी होती है कट्टरता के बिना देशभक्ति ही कैसी होती है गंगा-जमनी तहजीबों के किस्से तुमने बना लिए चौराहों पर जगह-जगह दीपक भी तुमने जला लिए तुमको नेताओं ने...





  • ईश्वर, वेद और विज्ञान

    ओ३म् आज का युग विज्ञान का युग है। विज्ञान विशिष्ट ज्ञान को कहते हैं। विज्ञान ज्ञान की वह विधा है जिसमें हम सृष्टि में कार्यरत व विद्यमान नियमों को जानकर व उनका उपयेाग करके अपनी आवश्यकता...