3 thoughts on “”सदाबहार गुरु भजनमाला”

  1. लीला बहन ,सभी भजन उच्कोटी के हैं और आसान बाणी में समझना भी आसान है , हुण मौजां ही मौजां .

    1. प्रिय गुरमैल भाई जी, अति सुंदर प्रतिक्रिया के लिए आभार. हुण मौजां ही मौजां .

Comments are closed.