Monthly Archives: August 2016

  • नेता लालू कह रहे…

    नेता लालू कह रहे…

    अमीर दौलत जोड़ते ,गरीब ढोता लाश , विलसित नेता जी हुए, कौन करे प्रकाश || बाढ़ राहत योजनाये ,चढ़ी बहुत परवान , जनता भूखी मर रही,रोता मिला किसान || जलथल सारा एक हुआ ,एक दिखे आकाश,...

  • चलो कहीं सैर हो जाये -6

    चलो कहीं सैर हो जाये -6

    पुर्वकथा सार : हम कुछ मित्र मुंबई से ट्रेन द्वारा जम्मू और फिर बस द्वारा कटरा पहुंचे । बाणगंगा से अर्ध्क्वारी होते हुए हम लोग भवन पहुंचे और माताजी का दर्शन किये । अब आगे …………………………....


  • जीने दो

    जीने दो

    जीने दो यही है छोटा सा घर मेरा ये चार दीवारें मेरी सीमाएं मदमस्त दौड लगाती हूं पर दीवारों से टकराती हूं स्वाद नहीं यहाँ खाने में पानी भी फीका है ना दोस्त कोई ना हमसाया...

  • गौ माता

    गौ माता

    गाय को माता सब कहते पर कितना फर्ज़ निभाते आवारा पशु वो कहलाती क्या ये ही फर्ज निभाते ? जब तक गरज है हमे दुध की करते लालन पालन सब बंद हुआ जब दुध गाय का...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    इक तो अब हो गई पुरानी भी, हमको आती नहीं सुनानी भी तुम अपने गम से भी नहीं खाली, है अधूरी मेरी कहानी भी आशिकी मर्ज़ लाइलाज भी है, और पैगाम-ए-ज़िंदगानी भी थोड़ा तूने भरोसा तोड़...