कविता

कोशिश

इस तस्वीर को माध्यम बनाकर लिखी गई एक छोटी सी कोशिश

बनाया है तस्वीर को चित्रकार ने
जिसे माना है
जीवनदायिनी सारे संसार ने
वो अदम्य अद्भुत शक्ति की देवी है
जिसकी है असंख्य भुजाएं
करती हैं कल्याण संसार का
वो रखती है सदैव मातृत्व की छत्रछाया
जिसमें फलता फूलता है यह संसार सारा
कभी नहीं मांगती कुछ
रहती है खड़ी सदा सहस्त्रो रूपों में
हमारे ही आस-पास
बस चित्रकार ने महसूस किया उसे
कर डाला कमाल कुचे से

परिचय - प्रवीण माटी

नाम -प्रवीण माटी गाँव- नौरंगाबाद डाकघर-बामला,भिवानी 127021 हरियाणा मकान नं-100 9873845733

Leave a Reply