बेटी

बेटी निराली
लगती बड़ी प्यारी
है बड़ी न्यारी!
………………..
नन्ही कली ने
जब आँगन आई
बाजे बधाई!
……………..
घर आँगन
खिली उपवन से
लगते प्यारे!
………………
फूलों सा सीचा
सर्व गुण भरके
नन्हीं परी को!
………………
बेटी परायी
अजीब है कहानीं
है बड़ी प्यारी!
………………..
खिली मुस्कान
सबके दिलो पर
है वो सजाती!
………………
बिजया लक्ष्मी

परिचय - बिजया लक्ष्मी

बिजया लक्ष्मी (स्नातकोत्तर छात्रा)
पता -चेनारी रोहतास सासाराम बिहार।