क्षणिका : दुशासन

देवी चरणों में,
शीश झुकाएँ,
करें माँ का श्रंगार,
न जाने ऐसे कितने सफेदपोश,
मन से अब भी हैं दुशासन,
लिए अंतस् में कुत्सित विचार !!

अंजु गुप्ता

परिचय - अंजु गुप्ता

Am Self Employed Soft Skills Trainer with more than 23 years of rich experience in Education field. Hindi is my passion & English is my profession. Qualification: B.Com, PGDMM, MBA, MA (English), B.Ed