कविता

मुझे मुझसे मिलने दो
खुद से उलझकर
फ़िर सुलझने दो
कोई रोक नहीं पायेगा
जब भरुंगी लंबी उडान
खुद का सहारा बनकर
नये पंख लगने दो
ये जो काले बादल
घुमड घुमड़ करके आ गये
इनके पीछे छुपा
आसमानी एक जहां
मुझे बुलाता है नूतन
तुम हो यहीं हो
यहीं कहीं, चारों ओर
मिलो तो खुद से
ढून्ढो अपने आप को
बिखरी हुई सी घूमती तुम
खुद को समेटो जरा !

परिचय - जयति जैन 'नूतन'

युवा लेखिका, सामाजिक चिंतक, आलोचक जयति जैन "नूतन" 1: जन्म - 01-01-1992 2: जन्म / जन्म स्थान - रानीपुर जिला झांसी 3: स्थायी पता- जयति जैन "नूतन ", 441, सेक्टर 3 , शक्तिनगर भोपाल , पंचवटी मार्केट के पास ! pin code - 462024 4: ई-मेल- Jayti.jainhindiarticles@gmail.com 5: शिक्षा /व्यवसाय- डी. फार्मा , बी. फार्मा , एम. फार्मा ,/ फार्मासिस्ट , लेखिका 6: विधा - कहानी , लघुकथा , कविता, लेख , दोहे 7: प्रकाशित रचनाओं की संख्या- 350 से ज्यादा रचनायें समाचार पत्रों व पत्रिकाओ में प्रकाशित 8: प्रकाशित रचनाओं का विवरण - वर्तमान लेखन: सामाज़िक लेखन, दैनिक, साप्ताहिक अख्बार, पत्रिकाये , चहकते पंछी ब्लोग, साहित्यपीडिया, शब्दनगरी, www.momspresso.com व प्रतिलिपि वेबसाइट, international news and views.com (INVC) पर ! 9: सम्मान- "विश्व हिंदी रचनाकार मंच" द्वारा संचालित "रचनाकार प्रोत्साहन योजना" के अन्तर्गत "श्रेष्ठ नवोदित रचनाकार सम्मान" से सम्मानित ! = B - अंतरा शब्द शक्ति सम्मान 2018 से सम्मानित ! = C- भारत के युवा कवि कवियत्री के तहत JMD पब्लिकेशन (दिल्ली ) दुआरा श्रेष्ठ युवा रचनाकार सम्मान से सम्मानित । 10: अन्य उपलब्धि- बेबाक व स्वतंत्र लेखिका ! 11:- लेखन का उद्देश्य- समाज में सकारात्मक बदलाव ! 12: साझा काव्य संग्रह A- मधुकलश B- अनुबंध C- प्यारी बेटियाँ D- किताबमंच E- आगामी काव्य संग्रह - भारत के युवा कवि औऱ कवयित्रियाँ एवं कुछ अन्य । 13: अनगिनत ऑनलाइन व ऑफलाइन पत्रिकाओं में लगातार प्रकाशित हो रही हैं रचनाएँ । 14- रानीपुर जिला झांसी की इतनी कम उम्र में पहली लेखिका होने का गौरव । 15- लेखन के क्षेत्र में 2010 से अब तक । ---- " आप गूगल पर जयति जैन नूतन या जयति जैन रानीपुर डाल कर कुछ रचनाये सर्च कर सकते हैं । " ----