// यादें .. //

price of viagra in uk // यादें…//

http://changtengyuan.com/?q=pfizer-viagra-price-in-uae कैसे सोता हूँ मैं
आँखभरी नींद में
आराम से..
सुखभरे इस पलंग पर!
वो यादें हैं अतीत की
अभी भी डबडबाई
इन आँखों में
चलचित्र है ईस्टमन रंग का।
निर्जीव-जीव थे हम
उस झोंपड़ी में,
बरसात में भीगते – धूप में जलते ,
भविष्य की चिंता में
आशा – निराशा की खिंचताई में
हर रोज हम मरते थे।
काल की कठोरता में
बंधे थे हमारे कदम।
अंधकार के घेरे में
दिशा हीन – विगत दशा में
साथी कौन रहे अहे!
साँस को बंदी बनाते,
अक्षरों के साथ दौड़ते
बे सुध हम गिर पड़े थे..
भाई -बंधु -परिजन,
मुँह फेर लेते,
क्या समझा रहे थे हमें!
यादें …
खुरेद – खुरेदकर प्रश्न करती हैं-
अब तुम सो जाओगे..?

परिचय - पी. रवींद्रनाथ

name of female viagra pills in india ओहदा : पाठशाला सहायक (हिंदी), शैक्षिक योग्यताएँ : एम .ए .हिंदी, एम.ए अंग्रेजी एम.फिल, शोधार्थी एस.वी.यूनिवर्सिटी तिरूपति। कार्यस्थान। : जिला परिषत् उन्नत पाठशाला, वेंकटराजु पल्ले, चिट्वेल मंडल कड़पा जिला ,आँ.प्र.516110 प्रवृत्ति : कविता ,कहानी लिखना, तेलुगु और हिंदी में । डॉ.सर्वेपल्लि राधाकृष्णन राष्ट्रीय उत्तम अध्यापक पुरस्कार प्राप्त।

go to site http://chandaulisamachar.com/?q=cialis-viagra-canada TOPICS