Monthly Archives: January 2018

  • पापा कब आएंगे  !

    पापा कब आएंगे !

    पुनित बहुत उदास था तो मनीषा ने फोन पर पुनित की बात सुदेश से कराई। अपने पापा से बात करके पुनित बहुत खुश हो गया कि इस बार दीवाली पर पापा घर आ रहे हैं। वो...



  • रणचंडी

    रणचंडी

    रजनी आज बहुत खुश थी । शारदा विद्यालय के प्राचार्य ने आज सुबह ही उसे फोन करके खुशखबरी सुनाई थी । अध्यापिका की नौकरी के लिए उसके आवेदन को स्कूल के प्रबंधकों ने मंजूर कर लिया...



  • कहानी – कर्नल सा’ब

    कहानी – कर्नल सा’ब

    धरमिंदर शर्मा एक गरीब परिवार से थे । परिवार में पांच भाई थे । पिता गुलाम भारत के अंग्रेजी राज्य में सेना में सिपाही थे । परिवार के थोड़े से वेतन में सात सदस्यों का गुजारा...


  • सदाबहार काव्यालय-18

    सदाबहार काव्यालय-18

    गीत नए वर्ष का संदेशा नई उमंगें नई तरंगें, वर्ष नया ले आया है सभी सुखी हों सब सम्पन्न हों, यह संदेशा लाया है-   नए वर्ष में नई पहल हो, जीवन सुगम-सरल अपना अनसुलझी जो...

  • नई भोर की ओर

    नई भोर की ओर

    रोज़ सुबह छोटू को गोद में उठाकर ग्राहकों को दूध देने जाना कमली का रोज़ का नियम था. हमेशा की तरह आज भी सुबह जल्दी उठकर नहा-धोकर कजरी का दूध चुआ. बहुत दिनों बाद आज कजरी...