हाइकु

घात लगाए
कुटिल पाकिस्तान
बाज न आए !
आकार लघु
गंभीरता समेटे
होते हाइकु !
गर्भ में कली
डरती क्या करती
की भ्रूणहत्या !
चारदीवारी
हुई असुरक्षित
रिश्ते विक्षिप्त
पहाड़ कर्ज
मौत का आलिंगन
धरतीपुत्र
पिसी जिंदगी
मर्यादा-अमर्यादा
है अंतर्द्वन्द
तने भृकुटि
देख वहशियत
बुलबुले सी
अंजु गुप्ता

परिचय - अंजु गुप्ता

Am Self Employed Soft Skills Trainer with more than 20 years of rich experience in Education field. Writing is my passion. Qualification: B.Com, PGDMM, MBA, MA (English)