गौरैया बड़ी प्यारी है

                                         विश्व गौरैया दिवस पर विशेष

गौरैया बड़ी प्यारी है,
सब चिड़ियों से न्यारी है,
सब कहते हैं लुप्त हो रही,
मेरे चौबारे आती है.
गौरैया से प्यार मुझे है,
मुझसे प्यार वह भी है करती,
सुना-सुना खुशियों के तराने,
नवजीवन वह भरती है.
तेजी से कटते पेड़ों को रोको,
मोबाइल टावर हैं इनके दुश्मन,
घोंसला बनाने की जगह इन्हें दो,
उल्लसित कर देगी यह तन-मन.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।