सरस्वती वंदना

हे माँ मुझे, रोशनी दे ज्ञान की
दूर कर  अज्ञानता
हाथ में वीणा पुस्तक
मोर पंख सुशोभित मस्तक,
तू ज्ञान है विधाता
ओ ममतामयी, करूणामयी
इतनी कृपा मुझ पर पर करना
मैं सदा चारी बनूँ।
सत्य के पथ पर चलूँ
विऱोध करूं अन्याय का
मुस्किलो से ना डरो
दे शक्ति मुझे माँ सरस्वती ।
आलस्यता का नास कर माँ
नव चेतना का संचार कर माँ
ज्योति से भर दे वसुन्धरा
यही मेरी प्रार्थना यही मेरी वंऩ्दना।
हे माँ मुझे रोशनी दे ज्ञान की

कालिका प्रसाद सेमवाल

परिचय - कालिका प्रसाद सेमवाल

प्रवक्ता जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, रतूडा़, रुद्रप्रयाग ( उत्तराखण्ड) पिन 246171