राजनीति

लेख– पुश-अप पर नहीं, जनहितार्थ पर ध्यान देना होगा।

जो स्थिति 2014 के आम चुनाव के वक़्त उभर कर भाजपा के लिए आई थीं। शायद वह अब फिसल रहीं है। फ़िसलन दिखे भी क्यों न। सत्तासीन दल के मंत्री जो अवाम की भलाई का काम छोड़कर पुश-अप में व्यस्त हैं। वायदे की लडी जो लगाई गई थी। अब उसके प्राण-पखेरू निकलते नज़र आ रहें […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

इंसानियत यहां रहती है

एक पाठक बंधु ने हमें अनमोल वचन का एक पोस्टर भेजा था, जिसमें एक बच्चा एक प्यास से तड़पते बच्चे को अपनी बोतल से पानी पिलाकर बहुत खुश हो रहा है, वह इस बात से अनजान है कि वह इंसानियत का फर्ज़ निभा रहा है. वह तो बस सबकी खुशी में खुश होना चाहता है. […]

समाचार

साहित्य संगम संस्थान ने 9 प्रदेशों के 101 साहित्यकारों को किया सम्मानित

डॉक्टरेट की मानद उपाधि सहित कई सम्मानों के साथ प्रदान की नकद राशि इंदौर। साहित्य संगम संस्थान दिल्ली द्वारा आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन एवम साहित्यकार सम्मान समारोह रविवार को इंदौर में आयोजित किया गया जिसमें राजस्थान ,मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश ,उत्तराखण्ड, दिल्ली, आंध्रप्रदेश ,महाराष्ट्र ,झारखंड सहित 9 प्रदेशों के 101 साहित्यकारों का सम्मान किया गया। […]

समाचार

पुरोहित ‘संगम सक्रिय सहभागी सम्मान’ से सम्मानित

भवानीमंडी:- साहित्य संगम संस्थान दिल्ली द्वारा आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन व साहित्यकार सम्मान समारोह में भवानीमंडी के कवि,साहित्यकार राजेश कुमार शर्मा”पुरोहित” को “संगम सक्रिय सहभागी सम्मान” से सम्मानित किया गया। पुरोहित ने बताया कि उन्हें यह सम्मान साहित्य संगम संस्थान द्वारा रविवार को इंदौर के संतोष सभागृह में आयोजित राष्ट्रीय स्तर के साहित्यकार सम्मान […]

गीतिका/ग़ज़ल

” ———– रातों ही रात में ” !!

ये कहो कि क्या हुआ , हम तुम थे साथ में ! खो गये सभी कहीं , कुछ भी ना हाथ में !! मच रहा बबाल है , तुम हाँ जो कर गये ! कर दिया अलग थलग , छोटी सी बात में !! तुम भुला गये सभी , वो बातें नीम सी ! सब […]

कविता

“हाइकु”

आज की गर्मी चलन बेरहमी जल की कमी॥-1 झुकी डाल है क्यों फल बीमार है जी अनार है॥-2 नर निर्वाह नव रोग निपाह रोके प्रवाह॥-3 कृत्रिम छाल मत रगड़ गाल हो जा निहाल॥-4 ये केला आम खजूर व बादाम है? रोग धाम ॥-5 महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

ब्लॉग/परिचर्चा

हमारी प्रतिभाएं और उनके सक्सेस मंत्र

सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के नतीजे घोषित हो चुके हैं. हर बार की तरह हमारी प्रतिभाएं सामने आ चुकी हैं. इन नतीजों से दो विशेष बातें उभरकर सामने आई हैं. पहली विशेष बात- 500 में से 499 नंबर लाना. 12वीं में मेघना श्रीवास्तव ने 499 नंबर हासिल किए हैं और 10वीं में एक नहीं […]

लघुकथा

कोच सर

मेहुल पिछले कुछ दिनों से प्रैक्टिस में ध्यान नहीं दे पा रहा था। इस बात से उसके कोच नाराज़ थे। आज उसके क्लब का मैच था। उसके टीम की स्थिति अच्छी नहीं थी। पर उसने अच्छी गेंदबाज़ी करके अपनी टीम को मैच जिता दिया। सब उसकी तारीफ कर रहे थे। पर मेहुल की निगाह अपने […]

लघुकथा

नजरिया

”ओह, मैं बाल-बाल बच गया!” उसने खुद से कहा, ”अगर सुरेंद्र समय पर नहीं आता, तो मेरा नजरिया ही मेरा कांटा बन जाता.” ”पिताजी बार-बार कहते हैं- ”नजर को बदलो नजारे बदल जायेंगे, सोच को बदलो सितारे बदल जायेंगे, कश्तियों को बदलने कि जरूरत नहीं, दिशाओ को बदलो किनारे बदल जायेंगे.” मैंने कभी इस सुविचार […]

लघुकथा

लघुकथा – नज़र

कोई दस दिन पहले एक सुबह ही अनु का मेसेज मिला “दी,अंश इज़  नो मोर ” स्तब्ध तो हुई,पर  दुःख नहीं  हुआ ! ऐसा तो पहले कभी हुआ कि किसी की मौत की खबर पर मुझे तसल्ली हुई हो ! अंश का भोला पर निर्विकार चेहरा याद आ गया ! सच तो यह है कि मैं अपने पड़ौसी […]