इंतजार है

आते हैं, छा जाते हैं, पर बरसते नहीं बादल
राजधानी दिल्ली समेत पूरे एनसीआर को 
बारिश का इंतजार है.
आये बादल, छाये बादल, जी भरकर बरसे थे बादल
बाढ़ के बाद आर्थिक राजधानी बंबई को 
पीने के पानी का इंतजार है.
स्ट्रीट लाइटों के पोल खुद बताएंगे उनमें क्या है खराबी
भारत समेत पूरे संसार को ऐसे वैज्ञानिकों की
प्रतिभा का इंतजार है.
लैब में सांप ने दिया 36 बच्चों को जन्म
जापान को जनसंख्या बढ़ाने, भारत को जनसंख्या-नियंत्रण के
सिद्धांत का इंतजार है.
हम दूसरों को जानने का खासा दम भरते हैं
भारत समेत पूरा संसार खुद को जाने 
ऐसी आकांक्षा का इंतजार है.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।