नया लुक

आज खबर पढ़ी-
हाई ग्रेड कैंसर से जूझ रही सोनाली को कटवाने पड़े अपने बाल, न्यूयॉर्क से शेयर किए न्यू लुक के फोटो और वीडियो

सोनाली ने विडियो पोस्ट करते हुए दिल को छू जाने वाली कुछ बातें भी लिखी हैं. उन्होंने लिखा है… मेरी पसंदीदा ऑथर इसाबेल के शब्दों में, ‘हमें तब तक पता नहीं चलता कि हम कितने बहादुर हैं जब तक हम वह छिपी शक्ति बाहर लाने के लिए मजबूर नहीं किए जाते.’ दुर्घटनाओं के वक्त, युद्धों के दौरान और जरूरत पड़ने पर लोग हैरान करने वाले काम कर देते हैं. मनुष्य की खुद को जिंदा रखने की क्षमता अद्भुत है.’

यह खबर पढ़कर मुझे बरबस 40 साल पहले की अपनी सहकर्मी अध्यापिका सुदर्शना की बात याद आ गई. सुदर्शना बाल कटवाकर छोटे करवाना चाह रही थी, लेकिन घर में उसके लिए कोई राजी नहीं था. फिर उसे कैंसर ने जकड़ लिया था. कीमियोथैरेपी करवाते हुए उसके बाल झड़ गए. जब हम उससे मिलने गए. उसने अपने छोटे बालों वाला नया लुक दिखाते हुए हंसकर कहा था-

”मुझे बाल छोटे करवाने का कितना शौक था. भगवान ने इस तरह मेरा शौक पूरा कर दिया.”

कुछ दिनों बाद न सुदर्शना रही, न उसका छोटे बालों के शौक और हंसी वाला नया लुक.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।