‘लेवल अप चैलेंज’

चैलेंज की कोई सीमा नहीं होती. किसी भी उम्र का व्यक्ति किसी भी उम्र के व्यक्ति को चैलेंज दे सकता है. आप जानते ही हैं कि जून में योगा डे होता है. 21 जून को योगा डे होता है, लेकिन उससे बहुत पहले ही चैलेंज का चलन शुरु हो गया था. फिर क्या था, सब एक दूसरे को चैलेंज देते गए, चैलेंज लेने वाले किसी भी उम्र या कद के हों, चैलेंज लेते गए और बात बनती चली गई. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने पीएम को फिटनेस चैलेंज दिया था, जिसे स्वीकार करते हुए उन्होंने अपना फिटनेस वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया था और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को चैलेंज किया था. पीएम के चैलेंज को उनके पिता एचडी देवगौड़ा ने स्वीकार किया है. चैलेंज लेने वालों को तो लाभ हुआ ही, बाकी लोगों को भी प्रेरणा मिलती गई.

सोशल मीडिया पर हर दिन कोई न कोई नया चैलेंज चलता रहता है. मशहूर रैपर ड्रेक का ‘इन माय फीलिंग’ चैलेंज अभी चल ही रहा था कि अब अमेरिकन सिंगर सियारा के ‘लेवल अप चैलेंज’ की भी धूम मच गई है. ‘लेवल अप चैलेंज’ की धुन कुछ-कुछ वैसी ही है, जैसी हमारे कीर्तन की धुन होती है. दोनों में एक समानता भी है.

कीर्तन की धुन कीर्तन में सामूहिक रूप से ताली बजाकर गाइए या अकेले में गुनगुनाइए, यह आपको ध्यानमग्न कर देती है. ठीक उसी तरह ‘लेवल अप चैलेंज’ की धुन नृत्य में ध्यानमग्न कर देती है. दमदार डांस विडियोज सामने आ रहे हैं, इसी बीच एक विडियो ऐसा है जिसे देखकर आंखें खुशी से छलकने लगती हैं.

 

 

न्‍यू जर्सी में रहने वाले केनिथ थॉमस उर्फ कैनी क्‍लच पेशे से कोरियोग्राफर और एक डांस टीचर हैं. उनके नन्हे-से मासूम बेटे क्रिस्‍ट‍ियन को कैंसर है. वह अस्‍पताल में भर्ती है और चुप-सा रहता है. उसे गुमसुम-सा देखकर केनिथ ने उसके सामने ‘लेवल अप चैलेंज’ लिया और जमकर डांस किया. बच्‍चे ने पहले तो ताली बजाई और फिर ख‍िलख‍िलाकर हंसने लगा.

 

 

‘लेवल अप चैलेंज’ ने सच में बच्चे का लेवल अप कर दिया था.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।