पुस्तक लोकार्पण एंव सम्मान समारोह

नई दिल्ली। नवजागरण प्रकाशन द्वारा पुस्तकों के लोकार्पण एवं सम्मान समारोह में अतिथि के रुप में वरिष्ठ भारतीय प्रसासनिक सेवा के अधिकारी एवं नई दिल्ली नगर पालिका के सचिव डा. रश्मि सिंह , सेवानिवृत आई.आऱ.ए.एस राम किशोर उपाध्याय ,हिंदी सेवी निवेदिता झा एंव चैन्नई से पधारी हिन्दी सेवी डा. सुधा दिवेदी द्वारा कवि पत्रकार एंव लेखक लाल बिहारी लाल को रचनात्मक सहयोग एवं हिन्दी के लिए सराहनीय कार्य करने हेतु अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर गीत किसने गाया जिसके संपादक जामिया मिलिया विश्विद्यालय के हिंदी अधिकारी डा. राजेश कुमार मांझी है, सहित 6 पुस्तकों का लोकार्पण किया गया। कार्यक्रम के अंत में एक कवि गोष्ठी का भी आयोजन किया गया जिसमें लाल बिहारी लाल, वीणा वादिणी चौबे, डा.राजेश मांझी आदि सहित दर्जनो कवियों ने हिस्सा लिया। संयोजन राजकुमार अनुरागी एवं संचालन कुमारी संध्या ने किया।

श्री लाल को अनुराधा प्रकाशन, नई दिल्ली द्वारा हाइकू संकलन में संपादकीय मंडल में रखा गया था औऱ इसके लिए लोकार्पण के अवसर पर मुख्य अतिथि रिटायर्ड जज श्री जय भगवान शर्मा एवं अनुराधा प्रकाशन के मुख्य संपादक मनमोहन शर्मा द्वारा लाल को साहित्य रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया । इस अवसर पर देश के विभिन्न क्षेत्रों से कई साहित्य सेवी भी उपस्थिति थे।

लाल बिहारी लाल पिछले 25 बर्षों से दिल्ली में नौकरी के साथ-साथ हिंन्दी एवं भोजपुरी की सेवा में लगातार लगे हुए है। लाल बिहारी लाल पिछले 25 बर्षों से दिल्ली में नौकरी के साथ-साथ हिन्दी एवं भोजपुरी की सेवा में लगातार लगे हुए है। पवन हंस लिमिटेड के नोयडा स्थित मुख्यालय में  15 अगस्त 2018 को कविता पाठ के उपरांत भी पवन हंस लि. के अध्यक्ष डा.बी.पी. शर्मा द्वारा. हिंदी सेवी सम्मान से लाल को सम्मानित किया गया । लाल को देश के विभिन्न संस्थाओं द्वारा 100 से ज्यादा पुरस्कार मिल चुके हैं।

इनकी भोजपुरी कविता क्रांति बी.आर अंबेडकर विश्वविद्याल,,मुजफ्फपुर के स्नातक(बी.ए.) तथा यही कविता नालंदा ओपेन विश्वविद्यालय के स्नातकोतर(एम.ए.)के पाठ्यक्रम में शामिल है। क्रांति कविता विश्व कविता कोष में भी शामिल है। इनके लिखे भोजपुरी गीत टी.सीरीज,एच.एम.वी.,वीनस,रामा ,मैक्स,चंदा, यू.की,प्रज्ञा आदि कंपनियों से बाजार में सैकड़ो गीत उपलब्ध है।  बहुत जल्द इनके सैड सांग हीरा पाठक की आवाज में प्रज्ञा संगीत कंपनी से जान हाजिर बा/ मेरी जान सोना आने वाला है। इनके कई देवी गीत एंव लोक गीत शीघ्र ही विभिन्न कंपनियों से आनेवाले है। हाल ही मे दो लोक गीतों का शूटिंग प्रज्ञा कंपनी के लिए हुआ है। श्री लाल देश के कई पत्र-पत्रिकाओं में हिन्दी तथा भोजपुरी में लिखते है। वही कई पत्र-पत्रिकाओं के संपदकीय मंडल में भी शामिल है।

 रवि शंकर

 

परिचय - लाल बिहारी गुप्ता लाल

जन्म : 10 अक्टूबर 1974 जन्म स्थान : ग्राम+पो. श्रीरामपुर, भाया - भाथा सोनहो, जिला-सारण (छपरा), बिहार-841460 माता : (स्व.) मंगला देवी पिता : (स्व.) सत्य नरायण साह पत्नी : श्रीमती सोनू गुप्ता संतान : पुत्र ज्येष्ठ—रवि शंकर (11वीं अध्ययनरत); कनिष्ठ—कृपा शंकर (11वीं अध्ययनरत) शिक्षा : स्नातकोत्तर (एम.ए.)-हिन्दी सम्प्रति : वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, उद्योग भवन, नई दिल्ली में कार्यरत संपादित कृतियाँ : 1. समय के हस्ताक्षर (2006) 2 लेखनी के लाल (2007) 3 माटी के रंग (2008) 4 धरती कहे पुकार के (2009) तथा कोलकाता से प्रकाशित हिन्दी साहित्यिक पत्रिका “साहित्य त्रिवेणी” के पर्यावरण विशेषांक का संपादन (2011) भाषा ज्ञान : हिन्दी, भोजपुरी एवं अंग्रेजी विशेष : हिन्दी एवं भोजपुरी की कविताएँ एवं गीत देश के विभिन्न साहित्यिक पत्र-पत्रिकाओं में छपती रहती हैं। लाल कला साहित्य एवं सामाजिक चेतना मंच (रजि.) बदरपुर, नई दिल्ली-110044 के संस्थापक सचिव। भोजपुरी गीतों का आडियो एवं वी.सी.डी. टी. सीरीज, एच. एम. वी., वीनस सहित देश की कई नामी-गिरामी कंपनियों से बाजार में हैं। संपर्क : 265 ए / 7, शक्ति विहार, बदरपुर, नई दिल्ली - 110044 फोन : 098968163073 // 07042663073 ई-मेल : lalbihari74@gmail.com, lalkalamunch@rediffmail.com