किस्से कमाल के

ये कमाल क्या है? कमाल क्यों होता है? कमाल कब होता है? कुछ पता नहीं, पर हो जाता है. चलिए आज हम कमाल की ही बात कर लेते हैं. सुबह उठते ही एक समाचार पर नज़र पड़ी, मन ने कहा- कमाल हो गया. अभी कल तक दिल्ली के बेहद प्रदूषित पर्यावरण की चर्चा हवा में थी, लोग पॉर्क में भी Face mask लगाकर सैर कर रहे थे और आज खबर आई है-

 

मुंबई, अहमदाबाद, पुणे, बेंगलुरु से भी साफ हुई दिल्ली की हवा

सच में ये तो कमाल हो गया. कितनी कोशिश की दिल्ली सरकार ने, कुछ नहीं हुआ, बस कमाल की बरसात हो गई और बेहद प्रदूषित पर्यावरण के बेहद साफ जोने का कमाल हो गया. अगली खबर देखिए-

 

जानवरों पर मुकदमा और फांसी, पढ़ें रोचक इतिहास

अभी तक आपने यही सुना होगा कि किसी इंसान पर मुकदमा चला या फांसी हुई या फिर जेल की सजा दी गई, लेकिन 1386 में एक नवजात शिशु की हत्या का एक सुअर को दोषी ठहराया गया और फांसी की सजा सुनाई गई. फांसी देने से पहले उसे ठीक अपराधी की तरह कपड़ा पहनाया गया, उसके चेहरे को मास्क से ढंक दिया गया.

1314 ईस्वी में एक सांड ने एक राहगीर पर हमला कर दिया था. हमले में राहगीर बुरी तरह घायल हो गया था. सांड पर मुकदमा चला और उसके बाद फांसी दे दी गई.

1474 ईस्वी में एक मुर्गे पर अंडा देने का जघन्य और अप्राकृतिक अपराध का मामला दर्ज किया गया. स्विटजरलैंड के एक कोर्ट ने उसे जिंदा जला देने की सजा सुनाई.

16वीं सदी में फ्रांस में चूहों पर जौ के खेत को नष्ट करने का आरोप लगा था. चूहों के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा चला. चूहों की पैरवी एक वकील ने की. अपने मुवक्किल का बचाव करते हुए उसने कहा कि उसका मुवक्किल गांव की बिल्लियों के डर से अदालत में हाजिर नहीं हो सकता है. इस मामले में चूहों को सजा नहीं हुई.

सितंबर 1916 में अमेरिका के टेनेसी राज्य में मैरी नामक एक हाथी को फांसी दे दी गई. उसने एक सर्कस के दौरान अपने एक ट्रेनर की हत्या कर दी थी. ट्रेनर की हत्या के जुर्म में उसे अरविन, टेनेसी के करीब फांसी की सजा दी गई.

1713 में ब्राजील में दीमकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. दीमकों पर चर्च की संपत्ति नष्ट करने के आरोप में मुकदमा चला. बताइए इस खबर के बारे में आपके क्या विचार हैं?

 

पहली बार हवाई यात्रा, टॉइलट गेट समझ हवा में हवाई जहाज का मेन गेट खोलने लगा यात्री
है न कमाल की खबर! पहली बार हवाई यात्रा भी कमाल कर गई. दिल्ली से पटना की फ्लाइट में सवार एक यात्री ने 22 सितंबर को कुछ ऐसा किया कि सबकी जान हलक में अटक गई. दरअसल, पहली बार हवाई यात्रा कर रहे यात्री ने एयरक्राफ्ट के गेट को टॉइलट का गेट समझ लिया और उस समय उसे खोलने लगा, जब एयरक्राफ्ट हवा में उड़ रहा था. गनीमत यह रही कि हवा के दाब के कारण गेट खुला ही नहीं और बड़ा हादसा टल गया. लीजिए एक और कमाल का समाचार दिख गया.

वॉट्सऐप के जरिए क्लेम सेटेलमेंट करेगा भारती एक्सा लाइफ इंश्योरेंस

देश की अग्रणी बीमा कंपनियों में से एक भारती एक्सा लाइफ इंश्योरेंस ने सोमवार को क्लेम की प्रक्रिया तीव्र और आसान बनाने के लिए सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म-वॉट्सऐप द्वारा अपना सेवा अभियान प्रारंभ किया. भारती एक्सा लाइफ इंश्योरेंस घरेलू लाइफ इंश्योरेंस स्पेस में पहली कंपनी है, जो ग्राहकों को इंस्टैंट मैसेंजर सर्विस, वॉट्सऐप के माध्यम से टेक्स्ट मेसेज भेजकर क्लेम मांगने का विकल्प दे रही है.

 

 

डिजिटल इंडिया के इस कमाल के साथ हम इस ब्लॉग से विराम ले रहे हैं, ताकि आप अभी तक वॉट्सऐप डाउनलोड न कर पाए हों, तो डाउनलोड कर लें और कामेंट्स में कमाल के अन्य किस्से लिख सकें. आपको यह ब्लॉग पसंद आया, तो हम इस श्रंखला को आगे भी जारी रखेंगे. कामेंट्स में आए आपके कमाल के अन्य किस्से अगली कड़ी में भी आप अपने नाम से देख पाएंगे. कमाल के किस्से भेजिए.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।