बाल कविता

हम बालक

हम बालक छोटे अज्ञानीक्यों करे कोई छल बताओ
हमको पसंद है चॉकलेट टॉफीक्यों खा जाते बड़े लोग बताओ
हम बालक जब मांगे खिलौनेदेते हैं हमको क्यों यह ताने
पढ़ो लिखो वक़्त न आयेगा लौटकरक्या बचपन लौटकर आएगा बताओ
हम बालक सब प्रेम से रहते क्यों कहते लोग हमें बंदर
करते जब बडे कोई मनमानीक्यों नहीं कहती उनको कोई नानी
बालक है तो क्या बचपना छीन लोगेक्या करवाओगे मज़दूरी ।

परिचय - कल्पना भट्ट

कल्पना भट्ट श्री द्वारकाधीश मन्दिर चौक बाज़ार भोपाल 462001 मो न. 9424473377

Leave a Reply