राजनीति

चाचा ने बनाया सेकुलर मोर्चा, अखिलेश को झटका

उत्तर प्रदेश में क्या विपक्षी दलों का गठबंधन बनने से पहले ही बिखरने लग गया है? महागठबंधन के सबसे बड़े दल समाजवादी पार्टी में उपेक्षित व अपने आपको अपमानित महसूस कर रहे चाचा शिवपाल यादव ने आखिरकार सेकुलर मोर्चा का गठन कर ही लिया है और समाजवादी दल के अंदर कहीं न कहीं किसी न […]

कविता

मेरे राम!!

जब भी संकट पड़ा हिंद पर , मुख से निकला जय श्री राम । जब भी कोई रावन जन्मा , मुख से निकला जय श्री राम ।। ऋषियों पर संकट आया , मुख से निकला जय श्री राम । हिंद भूमि फिर बोल पड़ी है , कण -कण से जय- श्री राम ।। पड़ी भीर […]

कविता

या फिर

या फिर बहुत कुछ अव्यक्त सा जरा-जरा अभिव्यक्त सा बहुत कठिन है ये दौर कितनी परीक्षाएँ मौन रह जाना या फिर साहस के साथ लड़ते रहना बहुत कुछ खो देने के बाद भी संघर्ष करते रहना या फिर घुटने टेक देना हालात के सामने टूटकर बिखर जाना या फिर झूक जाना तकदीर के नाम पर […]

मुक्तक/दोहा

“ मुक्तक” (छंद – हरिगीतिका

छंद – हरिगीतिका (मात्रिक) मुक्तक, मापनी – 2212 2212 2212 2212 फैले हुए आकाश में छाई हुई है बादरी। कुछ भी नजर आता नहीं गाती अनारी साँवरी। क्यों छुप गई है ओट लेकर आज तू अपने महल- अब क्या हुआ का-जल बिना किसकी चली है नाव री॥-1 क्यों उठ रही है रूप लेकर आज मन […]

राजनीति

क्या गूगल पर लगाम लगा पाएंगे ट्रम्प?

क्या यह संभव है कि दुनिया की नजर में विश्व का सबसे शक्तिशाली व्यक्ति भी कभी बेबस और लाचार हो सकता है? क्या हम कभी अपनी कल्पना में भी ऐसा सोच सकते हैं कि एक व्यक्ति जो विश्व के सबसे शक्तिशाली देश के सर्वोच्च पद पर आसीन है, उसके साथ उस देश का सम्पूर्ण सरकारी […]

कविता

कविता – कोरे पन्ने

कुछ दिनों से ये दिल कुछ कहता है न सुनता है सुस्त सुस्त सी लेखनी किसी कोने से चुपचाप बाट जोहती है कोरे कोरे से पन्नों की फड़फड़ाहट भी सुनाई नहीं देती आजकल मन उलझा है उलझनों में भटकी हुई है राहें भी किस ओर जाना है सूझती नहीं राहें भी ऐसे में राह दिखाए […]

बाल कविता

दीपक

बाल काव्य सुमन संग्रह से बाल गीत दीपक प्रेम-प्यार का दीपक प्यारा, जग-अंधियारा हरता है. आंधी और तूफानों से भी, तनिक नहीं यह डरता है. खुद जलकर औरों को देता, सुखदाई-तमहारी उजास. इससे सीखें हरदम देना, सबको सुखमय स्नेह-प्रकाश.

लघुकथा

मेच फिक्सिंग

“सबूतों और गवाहों के बयानों से यह सिद्ध हो चुका है कि वादी द्वारा की गयी ‘मेच फिक्सिंग’ की शिकायत सत्य है, फिर भी यदि प्रतिवादी अपने पक्ष में कुछ कहना चाहता है तो न्यायालय उसे अपनी बात रखने का अधिकार देता है।” न्यायाधीश ने अंतिम पंक्ति को जोर देते हुए कहा। “मैं कुछ दिखाना […]

लघुकथा

‘महा शतावधानी’

”बधाई हो, आप कल ‘महा शतावधानी’ बन जाएंगे.” 17 वर्षीय जैन साधु मुनि पद्म प्रभचंद्रसागर से साक्षात्कर्त्ता ने कहा. ”जय जिनेंद्र जी की कृपा रही तो.” मुनि का जवाब था. ”’महा शतावधानी’ में 3 शब्द हैं, महा, शत, अवधान. महा का अर्थ तो हम जानते हैं- महान, बड़ा या फिर अनेक, शत का अर्थ सौ […]