भारतीय रेल, ये भी जानो

भारतीय रेल एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है और विश्व का चौथा। रोजाना लगभग दो करोड़ से ज्यादा लोग रेलवे से सफर करते हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि सफर के दौरान जो जंक्शन, टर्मिनस और सेंट्रल स्टेशन आते हैं उसका क्या मतलब होता है? अगर नहीं जानते तो आज हम आपको बताते हैं इनके क्या मायने होते हैं। जानिए इनके बारे में…
– रेलवे स्टेशन को मूलरूप से चार भागों में बांटा गया है।
टर्मिनल
सेंट्रल
-जंक्शन
– स्टेशन

टर्मिनल क्या होता है ?
टर्मिनस या फिर टर्मिनल, जिसका मतलब होता है ऐसा स्टेशन, जहां से ट्रेन आगे नहीं जाती है। यानी कि जिस दिशा से ट्रेन उस स्टेशन पर पहुंचती है, दूसरी जगह जाने के लिए उसे उसी दिशा में वापस आकर फिर से गुजरनी पड़ती है।
उदाहरणः
छत्रपतिशिवाजीटर्मिनस(सीएसटी)
लोकमान्यतिलकटर्मिनसएलटीटी)
कोच्चि हार्बर टर्मिनस
इस तरह से भारत में कुल 27 टर्मिनस स्टेशन हैं।

सेंट्रल क्या होता है ?
सेंट्रल उस रेलवे स्टेशन को कहा जाता है, जहां ट्रेनों का सबसे ज्यादा समागाम होता है। इसके अलावा इसके इर्द-गिर्द सबसे ज्यादा स्टेशन होते हैं। यह शहर का बहुत ही व्यस्त स्टेशन भी होता है, कई जगहों पर पुराने स्टेशन को भी सेंट्रल कहा जाता है। भारत में कुल 5 सेन्ट्रल स्टेशन हैं।
उदाहरणः
मुंबईसेन्ट्रल(बीसीटी)
चेन्नईसेन्ट्रल(एमएएस)
त्रिवेंन्द्रमसेन्ट्रल(टीवीसी)
मैंग्लोरसेन्ट्रल(एमएक्यू)
कानपुर सेन्ट्रल (सीएनबी)

जंक्शन क्या होता है ?

जंक्शन उस रेलवे स्टेशन को कहते हैं, जहां ट्रेनों की आवाजाही के लिए कम से कम 3 अलग-अलग रूट हों। यानी ट्रेन कम से कम एक साथ दो रूट से आ भी सकती है और जा भी सकती है, इसे जंक्शन कहते हैं।
उदाहरणः
मथुरा जंक्शन (7रूट)
सलीम जंक्शन (6रूट)
विजयवाड़ा जंक्शन (5रूट)
बरेली जंक्शन (5 रूट)

स्टेशन क्या होता है ?

स्टेशन उस जगह को कहते है जहां ट्रेन आने जाने वाले यात्रियों और समानों के लिए रुकती है। भारत में लगभग साढ़े आठ हजार स्टेशन हैं।

— कविता सिंह, बनारस

परिचय - कविता सिंह

पति - श्री योगेश सिंह माता - श्रीमति कलावती सिंह पिता - श्री शैलेन्द्र सिंह जन्मतिथि - 2 जुलाई शिक्षा - एम. ए. हिंदी एवं राजनीति विज्ञान, बी. एड. व्यवसाय - डायरेक्टर ( समीक्षा कोचिंग) अभिरूचि - शिक्षण, लेखन एव समाज सेवा संयोजन - बनारसिया mail id : samikshacoaching@gmail.com