Monthly Archives: January 2019


  • मेघ जीवन

    मेघ जीवन

    “मेघ जीवन” किरणों की मथनी से सूरज, मथता जब सागर जल को । नवनीत मेघ तब ऊपर आता, नवजीवन देने भूतल को । था कतरा कतरा सा पहले, धुनी तूल सा पूर्ण धवल । घनीभूत जुड़...


  • प्रेम….

    प्रेम….

    ये दिल की आदतें कैसी है बार-बार चोट खाती फिरभी दिल लगाती है दर्द से गहराया है मन का कोना-कोना तब भी उसी का नाम ले चीखती है फिक्र कर मेरी….. प्रेम के घेरे में बांध...



  • ममता की परीक्षा ( भाग -24 )

    ममता की परीक्षा ( भाग -24 )

      जमनादास को उसके बंगले के सामने उतारकर गोपाल ने कार अपने बंगले की तरफ बढ़ा दिया । कार बंगले के मुख्य दरवाजे के सामने खड़ी करके गोपाल ने फुर्ती से उतरकर पिछला दरवाजा खोला और...