कविता – ज़िंदगी

जिन्दगी क्या है
जिन्दगी प्रेम की परिभाषा है,
जिन्दगी करूणा का सागर है।
जिन्दगी एक अहसास है,
जिन्दगी किताब में रखा सूखा फूल है,
जिन्दगी सुख दुःख का समुन्दर है।
जिन्दगी परिवार की खुशियां है,
जिन्दगी भाई बहन का प्यार है।
जिन्दगी एक रंगमंच है,
जिन्दगी एक पहेली हैं,
जिन्दगी सुखों का अंबार है।
जिन्दगी हमेशा हमें सिखाती है,
जिन्दगी एक खूबसूरत लम्हा है,
जिन्दगी पल पल घटती है,
जिन्दगी किसी के लिए दो वक्त की रोटी है,
जिन्दगी किसी के लिए महलों का आराम है।
जिन्दगी प्यार है, आस है, सच्चाई है,े
जिन्दगी बीते दिनों की परछाई है।
जिन्दगी खट्टा मीठा अहसास है,
जिन्दगी जिंदादिली का नाम है,
जिन्दगी ही सब कुछ है।।
गरिमा

परिचय - गरिमा

दयानंद कन्या इंटर कालेज महानगर लखनऊ में कंप्यूटर शिक्षक शौक कवितायेँ और लेख लिखना मोबाइल नो. 9889989384