दोहे- अपना देश महान है

अपना देश महान है,कहते सारे लोग।
दुख सुख में साथी सभी, करते सारे भोग।।

किसान मेरे देश के, करते हाहाकार।
खाद बीज मिलते नहीं, खेत हुये बेकार।।

गौरव गाथा कह रहा, अपना ये इतिहास।
देश हमारा कह रहा, कैसे हुआ विकास।।

जन जन अब गाने लगा, वन्दे मातरम गान।
मेरे भारत देश की,महिमा बडी महान।।

गाँधी गौतम बुद्ध का, पावन अपना देश।
सदियों से देता रहा, सभी को ये सन्देश।।

विकास के पथ पर बढ़े,देश हमारा आज।
तकनीकी बढ़ती रहे, पूरे हो सब काज।।

बड़े दलों में हो रही, नैतिकता कमजोर।
रसना रोज फिसल रही, व्यर्थ मचाये शोर।।

— कवि राजेश पुरोहित

परिचय - राजेश पुरोहित

पिता का नाम - शिवनारायण शर्मा माता का नाम - चंद्रकला शर्मा जीवन संगिनी - अनिता शर्मा जन्म तिथि - 5 सितम्बर 1970 शिक्षा - एम ए हिंदी सम्प्रति अध्यापक रा उ मा वि सुलिया प्रकाशित कृतियां 1. आशीर्वाद 2. अभिलाषा 3. काव्यधारा सम्पादित काव्य संकलन राष्ट्रीय स्तर की पत्र पत्रिकाओं में सतत लेखन प्रकाशन सम्मान - 4 दर्ज़न से अधिक साहित्यिक सामाजिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित अन्य रुचि - शाकाहार जीवदया नशामुक्ति हेतु प्रचार प्रसार पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य किया संपर्क:- 98 पुरोहित कुटी श्रीराम कॉलोनी भवानीमंडी जिला झालावाड़ राजस्थान पिन 326502 मोबाइल 7073318074 Email 123rkpurohit@gmail.com