अन्य बाल साहित्य

पहेलियाँ

1————

काटने से कटती नहीं

मारने से मरती नहीं
साथ-साथ चलती है

बेबाक अकड़ती है।
( उत्तर – छाया )
2—————
छम छम नाच दिखाती है
पानी में इठलाती है।
मक्खन से मुंह भरती है
दूध-दही पीती है।
( उत्तर- मथनी/मथानी)
3—————–
कंकड़ पत्थर का डर नहीं
कांटों पर चलता है।
पहाड़ों पर चढ़कर
जीत हासिल करता है।
( उत्तर- जूता)
4——————–
काले जंगल में रहती है
गंदा भोजन करती है।
स्वच्छता से डर कर
पानी में बह जाती है।
(उत्तर – जूँ )
5————————
खेतों में पला बड़ा
साथियों के साथ खड़ा।
खाते हम सब चूस चूस कर
मीठे रस से भरा हुआ।
( उत्तर- गन्ना/ ईख)
6—————-
हर मिठाई बनती मुझसे हर पर्व की शान।
हीरे सी चमकती
सुबह और शाम।
( उत्तर- चीनी)
7—————
एक माँ की दो बेटी
संग संग रहती सोती
खाती एक अनाज
दूसरी खाती बाट।
( उत्तर – तराजू )
8—————-
रंग उसका काला मटमैला
बादलों सा रूप।
आंख में आँसू देता
आसमान का सुख।
( उत्तर- धुंआ )
9—————–
जंगल वन घूमा करती
आड़ी तिरछी चलती।
प्यास बुझा कर जन-जन की
खुशियों से उछलती।
( उत्तर – नदी)
10——————-
रूप रंग पानी के जैसा
मेहनत से घबराता है।
गर्मी उसे रुलाती है
हवा उसे सुखती है।
(उत्तर – पसीना)

— निशा नंदिनी भारतीय
तिनसुकिया, असम

Leave a Reply