अन्य लेख

ठक-ठक, ठक-ठक-10

ठक-ठक, ठक-ठक-1

”ठक-ठक, ठक-ठक”.
”कौन है?”
”मैं हूं पत्रकार.”
”कौन-से पत्रकार?”
”एकता का पत्रकार.”
”एकता, यानी एकता कपूर?.
”आपके मन में एकता कपूर बस रही है तो आप वही समझिए, वैसे मैं देश की एकता का पत्रकार हूं. फिर आजकल तो एकता कपूर के न्मन में भी देश की एकता हिलोरें ले रही होगी.”
”सही कहा, अब अपनी बात सुनाइए.”
”मैं तो अपनी भारतीय संस्कृति की बात कह रहा था. हम वैसे चाहे कितना भी लड़ें-भिड़ें, लेकिन देश पर खतरा मंडरा रहा हो तो तुरंत एक हो जाते हैं.”
”हम सबूत नहीं चाहते, पर लगता है कि आप कोई गहरी बात कहना चाहते हैं.”
”यह सही कहा, सबूत मांगने के लिए कहना भी गुनाह है. ऐसी परिस्थिति में सरकार सबूत दे या अपना काम करे! फिर सबूत दुश्मन के पास भी तो पहुंच जाते हैं न! तो अब सुनिए मेरी बात- संसद की लाइब्रेरी में विपक्षी दलों ने बैठक की, जिसमें उन्होंने आतंकी शिविर पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई की सराहना करते हुए जवानों के साथ खड़े होने की बात भी कही.”
”यह तो बहुत अच्छी बात है.”
”जी हां, यह मोरल सपोर्ट यानी नैतिक सहयोग ही तो हमारे देश की ताकत बनेगा न!”

ठक-ठक, ठक-ठक-2
”ठक-ठक, ठक-ठक”.
”कौन है?”
”मैं हूं पत्रकार.”
”कौन-से पत्रकार?”
”MWC 2019 का पत्रकार.”
”MWC का क्या मतलब है?”
”MWC का अर्थ है- मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस. इस बार इसका आयोजन बार्सिलोना में हुआ.”
”कुछ खास नई बात?”
”वही तो बता रहा हूं. 5 खास नई बातें हैं-
1.हवा में उड़ने वाली टैक्सियां
पहली नजर में यह ड्रोन और हेलीकॉप्टर का मिक्स लगेगा लेकिन यह ऐसी एरियल टैक्सी है जो 5जी टेक्नॉलजी की मदद से आने वाले दिनों में ट्रांसपोर्ट की तस्वीर बदल सकती है.”
”बहुत खूब! आपने तो हमारी जिज्ञासा बढ़ा दी.”
”2.म्यूजिक शो करने वाले रोबॉट
चीन की कंपनी ZTE ने यहां रोबॉट की मदद से एक लगातार चलने वाला म्यूजिक शो रखा है जिसमें एक रोबॉट पियानो बजाता है तो एक ड्रम्स.
3.साइकल से मोबाइल चार्जिंग
एक विशेष साइकल पर बैठकर मोबाइल पर काम करते जाइए और पेडल मारते हुए मोबाइल चार्जिंग करते जाइए. न किसी बिजली के कनक्शन की जरूरत, ऊपर से स्वास्थ्य का तोहफ़ा फ्री.
4.5 जी टैक्सियां
सीट नाम की कंपनी ने एक छोटी सी कार को शोकेस किया, जो कार कम लगती है और खूबसूरत डिजाइन में चार पहियों वाला ई रिक्शा ज्यादा लगती है, लेकिन यह इससे कहीं आगे है. 5जी से कनेक्ट हो कर यह खुद चलती है, शेयरिंग गाड़ी है, चाभी की जरूरत नहीं, एप से कनेक्ट कीजिए. खुद कंट्रोल होने वाला पब्लिक ट्रांसपोर्ट शायद कुछ ऐसा ही होगा.
5.5 जी गेमिंग
5जी में डेटा की तेज स्पीड से गेमिंग की स्ट्रीम इतनी बेहतर होगी कि जैसे आज नेटफ्लिक्स सिनेमा के लिए बन गया है, हम जल्द ही गेमिंग में भी ऐसी क्रांति देखेंगे, खासकर वीआर के साथ.”
”धन्यवाद MWC 2019 का पत्रकार जी.”

ठक-ठक, ठक-ठक-3
”ठक-ठक, ठक-ठक”.
”कौन है?”
”मैं हूं पत्रकार.”
”कौन-से पत्रकार?”
”तकनीकी सलाह का पत्रकार.”
”आप हमें कोई तकनीकी सलाह दे रहे हैं?”
”वह भी दे सकता हूं, अभी तो पाकिसतान के दावे की बात कर रहा हूं. पाकिस्तान ने दावा किया कि भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन उसकी गिरफ्त में है और इसके बाद से ही उनकी रिहाई की अपील भी होने लगी है. भारत ने पाक पर जिनीवा कन्वेंशन के तहत दबाव बनाने की कोशिश की है.”
”आखिर क्या है जिनीवा कन्वेंशन?”
”बता रहा हूं. जिनीवा संधि के तहत, युद्धबंदियों को न तो डराया-धमकाया जा सकता है और न ही अमानवीय व्यवहार किया जा सकता है. अभिनंदन उन सभी अधिकारों के हकदार हैं, जो जिनीवा कन्वेंशन के तहत प्रिजनर ऑफ वॉर (PoW) यानी एक युद्धबंदी को मिलती हैं. PoW के साथ किस तरह का व्यवहार होना चाहिए, इसके बारे में 1949 का जिनीवा कन्वेंशन साफ-साफ कहता है कि यह उन सभी मामलों में लागू होता है, चाहे घोषित युद्ध का मामला हो या नहीं. इस तरह, पाकिस्तान को विंग कमांडर अभिनंदन को हर हाल में छोड़ना ही होगा, क्योंकि पाकिस्तान ने भी जिनीवा कन्वेंशन पर दस्तखत किए हैं.”
”क्या सच में ऐसा हो सकता है/”
”बिलकुल हो सकता है. चलते-चल्ते आपको बताता चलूं, कि चेहरे पर खून और पाकिस्तान की कस्टडी, फिर भी दृढ़ नजर आए एयर फोर्स पायलट अभिनंदन.”
”अभिनंदन का अभिनंदन.”

ठक-ठक, ठक-ठक-4
”ठक-ठक, ठक-ठक”.
”कौन है?”
”मैं हूं पत्रकार.”
”कौन-से पत्रकार?”
”अस्पताल से पत्रकार.”
”अरे-अरे क्या हो गया?, जल्दी बताइए”
”डरिए मत, कोई डरने वाली बात नहीं है. भारतीय वायुसेना को सलाम करते हुए राजस्थान के अजमेर में एक दंपती ने अपने नवजात का नाम ‘मिराज राठौर’ रख दिया है. गौरतलब है कि आतंकी ठिकानों को तबाह करने के लिए भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक में मिराज-2000 लड़ाकू विमान का ही इस्तेमाल किया था.”
”क्या यह मिराज राठौर भी शत्रु से लोहा लेगा?”
”इसके माता-पिता की तो यही इच्छा है, बाकी भविष्य की बात भविष्य के गर्भ में है.”

ठक-ठक, ठक-ठक-5
”ठक-ठक, ठक-ठक”.
”कौन है?”
”मैं हूं पत्रकार.”
”कौन-से पत्रकार?”
”दिल्ली के मनोज कुमार के ऑटो से पत्रकार.”
”क्या किया है मनोज कुमार ने?”
”दिल्ली में एक ऑटोवाले ने भारत की सेना को अनोखे अंदाज में सलाम किया है. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर वायु सेना की एयर स्ट्राइक से खुश इस ऑटो ड्राइवर ने मंगलवार को दिनभर फ्री सेवा दी,”
”वाह! आज तो आपने दिल खुश कर दिया पत्रकार जी.”
”बस आप भी भगवान से दुआ करिए कि हमारा देश एक बनारहे और नेक बना रहे.”
”तथास्तु. ऐसा ही हो.”

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।

2 thoughts on “ठक-ठक, ठक-ठक-10

  1. इस ठक ठक में बहुत अछे सन्देश मिले हैं लीला बहन . अभिनंदन जी अब आज़ाद हैं और देश भर ने उन को बिग स्वागत दिया है . हमें अभिनन्दन पर गर्व है .

  2. ठक-ठक, ठक-ठक
    पाकिस्‍तानी हिरासत से आज छूटेंगे विंग कमांडर अभिनंदन, वाघा बॉर्डर पर लेने जाएगी एयरफोर्स
    पाकिस्‍तान के हिरासत में चल रहे इंडियन एयर फोर्स के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन आज छूट जाएंगे। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की घोषणा के बाद यह रिहाई संभव होने जा रही है। इमरान ने संसद में इसकी घोषणा की थी।

Leave a Reply