वो प्यार जिसे…

वो प्यार जिसे कभी ‘गीत’ कहता था ,
वो प्यार जिसे आज शब्दों में पिरोता हूँ !

वो प्यार जिसे कभी ख़्वाबों में संजोता था,
वो प्यार जिसे आज शराबों में डुबोता हूँ !!

परिचय - नीरज सचान

BHEL झाँसी में सहायक अभियंता मो. 9200012777 ईमेल - neerajsachan@bhel.in