Monthly Archives: March 2019

  • दर्द दे गया

    दर्द दे गया

    दर्द दे गया जिन्दगी में वो इस कदर अब तो बस इस दिल में वीरानगी रह गई। तेरी बेवफाई के गम के इतने सताये हुये है कि सारी खुशियाँ धरी की धरी रह गई। बेबस किया...

  • चरित्र

    चरित्र

    डूब रही थी जब एक नैया बीच धार एक तूफानी रात, लगी जाकर किनारे तब तूफानों ने दिया उसका साथ। पूछा नैया से तब किनारे ने मित्र पतवार क्यों छोड़ा हाथ, जिस पर भरोसा किया तुमने...

  • गौरैया रानी, बड़ी सयानी

    गौरैया रानी, बड़ी सयानी

    रोज की तरह आज भी गौरैया रानी आई थी और ”गौ-गौ” कर रही थी. ”गौरैया रानी, ”गौ-गौ” क्यों कर रही हओ?” हमने पूछा. ””गौ-गौ” का मतलव गौरैया आ गई है और बहुत-से फटाक-फटाक समाचार लाई है.”...



  • समय

    समय

    टिक टिक करती समय की सुइयां कब देती हैं साथ । कितना दौडो भागो पीछे हाथ आये बस काश । कभी दर्द के कांटे छलनी मन कर जातें हैं । मुड़कर देखो अगर जरा  ये हमें...


  • दिल चाहता है।

    दिल चाहता है।

    पुरुष उत्पीड़न ! दिल चाहता है। पूनम और रवि की शादी को अभी एक महीना भी नहीं हुआ था कि अलगाव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। रवि समझ नहीं पा रहा था कि वो क्या...