बहस

पुरजोर बहस हुई
कागज़ और कलम में
मोल किसका है ज्यादा?

बिन कलम
मूल्य हीन कोरा कागज़
महज़ चने की पुड़िया
पानी में तैरती बच्चों की नाव,
कागज़ रहित कलम
बढ़ाता जेब की सुंदरता
बालों को खुजलाता
ऐंठता इठलाता।

भिन्न भिन्न रसों को समेटे
कलम की स्याही को
रोशनाई बनाते
बिखरते हैं आखर जब
कलम से कागज पर
रसास्वादन कराते
बिदकते थिरकते हैं।

करते एक नए युग की शुरुआत
रचते इतिहास
ज्ञान का हस्तांतरण करते
प्रगति का पथ दिखाते
कभी मौखिक तो कभी
लिखित बन जाते,
अपने अर्थ के अनुरूप
न घटते, न नष्ट होते
स्थिर हो अमर बन जाते।

बगिया के खिले-खिले फूल
शांति बन महकते हृदय में
अपंग भिक्षुक को देख राह में
हृदय को चीरती करूणा
टपकती कागज पर बनकर आँसू,
सौंदर्य पर मंत्र-मुग्ध होता मन
श्रृंगार की अभिव्यक्ति पर
बेचैन हो ढूंढता कागज़।

देखकर सूत्रधार के हास्य को
मन हंस पड़ता खिलखिलाकर
लिख कर शहीदों की गाथाएं
वीरता बरसाती कलम,
प्राकृतिक आपदा का रौद्र रूप
लिखा इस कलम ने
जघन्य कृत्य का वीभत्स रूप भी
लिखती कागज़ पर ये कलम।

ये कागज़, ये कलम, ये अक्षर,
बनते सब साक्षर
रति, हास, शोक, क्रोध, उत्साह
भय, घृणा, आश्चर्य, निर्वेद
नौ रसों को लिखकर कागज़ पर
कराती अनुभूति कलम
लौकिक-अलौकिक आनंद की।

बहस किस बात की दोनों में
दोनों ही सृष्टि के दो लिंग
जन्म देते रचना को,
दोनों मिलकर
सही हाथों में आकर
हिला सकते हैं दुनिया
गढ़ सकते हैं किला
अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ता
होते हैं मिलकर
एक और एक ही ग्यारह।

हम दोनों न हो कभी जुदा
सजाते रहें नित नव गुलिस्तां
दोनों की उम्र मिले एक दूजे को
बने सहारा एक दूजे का,
कलम बन रंगते रहो
मेरी सफेदी को तुम
न खत्म हो कभी रोशनाई तुम्हारी
मैं इतिहास बन बाँटता रहूँ
पीढ़ी दर पीढ़ी उपहार
शिक्षा-संस्कृति और ज्ञान का।

निशा नंदिनी भारतीय

परिचय - निशा नंदिनी भारतीय

नाम- निशा गुप्ता जन्म स्थान - रामपुर उत्तर प्रदेश जन्म तिथि - 13-9-1963 कर्म स्थान - तिनसुकिया, असम वरिष्ठ अध्यापिका - विवेकानंद केन्द्र विद्यालय तिनसुकिया, असम शिक्षण कार्य - 25 वर्षों से 1992- से विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी से समाज सेवा के काम में जुड़ी हैं । तिनसुकिया नगर की "नगर प्रमुख" हैं हरिसत्संग समिति की" उपाध्यक्ष" हैं सभी क्षेत्रों में सेवा कार्य कर रही हैं लेखन कार्य - सभी विधाओं में किया है । शिक्षा -" समाजशास्त्र", "दर्शन शास्त्र" व "हिन्दी साहित्य" में एम.ए तथा बी.एड । लेखन कार्य - लगभग तीस वर्षों से। प्रकाशित पुस्तकें - सात ( तीन काव्य संग्रह दो बाल उपन्यास एक लघु कथा (तीन पुस्तके प्रकाशनार्थ हेतु संलग्न ) 1- भाव गुल्म ( काव्य संग्रह ) 2- शब्दों का आईना ( काव्य संग्रह ) 3- आगाज ( काव्य संग्रह ) 4- जादूगरनी हलकारा( बाल उपन्यास ) 5- जादुई शीश महल ( बाल उपन्यास ) 6- शिशु गीत 7- पगली ( लघु कथा ) सम्मान -(मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से ) " माननीय शिक्षा मंत्री स्मृति इरानी जी "द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में प्रोत्साहन प्रमाण पत्र । 2- कविता सागर साहित्य समूह द्वारा कविता प्रतियोगिता में सम्मान प्रमाण पत्र । 3- कवि हम तुम साहित्य संस्था द्वारा सम्मान पत्र । 4- राष्ट्रीय स्तर के (N. G.O ) रियल हेल्प ब्यूरो की असम राज्य की चेयरमैन । 5- "नारायणी साहित्य अकादमी" की पूर्वोत्तर प्रभारी 6- असम प्रभारी-( आगमन साहित्यिक व सांस्कृतिक संस्था ) 7- आकाशवाणी दिल्ली से रचना प्रस्तुति Mail I.D - nishagupta1313@ yahoo.in GMAIL l.D nishaguptavkv@gmail.com वर्तमान पता- निशा गुप्ता श्री. एल. पी गुप्ता मजुमदार बिल्डिंग, गोधाली रोड सिरपुरिया, तिनसुकिया, असम पिन कोड -786145 09435533394