दिलीप भाटिया को अस्मिता साहित्य सम्मान

रावतभाटा राजस्थान परमाणु बिजली घर के सेवानिवृत् परमाणु वैज्ञानिक दिलीप भाटिया को उनके स्वरचित मौलिक लघुकथा सन्कलन  ” भीगी पलकें ” को अस्मिता साहित्य सम्मान 2018 के अन्तर्गत तीसरा पुरस्कार बडोदा वदोदरा गुजरात की हिन्दी पत्रिका नारी अस्मिता की सन्सथापक प्रकाशक सम्पादक डाक्टर रचना निगम ने प्रशस्ति स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया एवं भविष्य में भी दिलीप भाई की सशक्त कलम से समाजोपयोगि रचना विचार लिखने के लिए प्रयास करते रहने के लिए आशीर्वाद दिया। बोधि प्रकाशन से प्रकाशित इस पुस्तक में 100 लघुकथा हैं। मात्र 50 रुपए में पुस्तक प्रकाशक अमेजन के पास उपलब्ध है एवं लेखक से भी पिडिफ प्रति वाट्सएप पर सम्पर्क कर प्राप्त की जा सकती है।राष्ट्रीय स्तर का सम्मान साहित्यिक रचना के लिए एक परमाणु के क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति को मिलना निश्चय ही लेखक की प्रतिभा का प्रमाण है एवं परमाणु नगरी रावतभाटा में रहने वाले दिलीप के शुभचिंतकों को अपने मित्र की उपलब्धि पर गर्व है।