कविता

रात एक पहेली है

तेरे लबों पर बिखरे तबस्सुम की तरह, रात एक पहेली है मेरी खातिर। समझ न सकी तेरी बेरुखी की वजह, उसमें परवाह भी शामिल है मेरी खातिर। तुझे भुला चुकी हूं बुरे ख्वाब की तरह, फिर भी क्यों इंतजार है तेरी खातिर। तूने मुंह फेर लिया था गैरों की तरह, फिर क्यों दिल तेरा तड़पता […]

गीत/नवगीत

मेरा आइना

मेरा आइना मुझसे अब मेरी पहचान मांगता है शायद मुझसे ज्यादा आइना मुझे पहचानता है बालों की खोती कालिख उभरती सफेद चमक आँखों के तले स्याह घेरे लफ्जों की बुझती चहक वो शायद इसकी वजह मुझसे ज्यादा जानता है मेरा आइना मुझसे अब मेरी पहचान मांगता है उसके सामने मैने कपडे़ ही नहीं कई रुप […]

इतिहास

प्रख्यात शिक्षाविद -भारत रत्न डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

 “केवल निर्मल मन वाला व्यक्ति ही जीवन के आध्यात्मिक अर्थ को समझ सकता है स्वयं के साथ ईमानदारी आध्यत्मिक अखंडता की अनिवार्यता है।” ये शब्द थे भारत रत्न डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जिन्होंने  अपने जीवन के चालीस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षक बन कर निकाले। वे कहते थे “कला मानवीय आत्मा की गहरी परतों […]

कविता

गुरुजी (कविता)

अज्ञानता दूर करके गुरुजी ने, ज्ञान की ज्योती जलाया है । गुरु जी के चरणों में रहकर, हमने सब शिक्षा पाया है । गलत राह पर भटके जब हम, गुरुजी ने ही राह दिखाया है । सत्य मार्ग पर चलने को, गुरुजी ने दिशा दिखाया है । गुरुजी का आदर करके, हमने आशीर्वाद पाया है […]

कविता

समाचार पत्र (कविता) – मैं कौन हूँ

सुबह सवेरे अपनी तकदीर पर रश्क करता हूँ शाम होते ही पूराने साथियों तक पहुंच जाता हूँ चंद घंटों के सफर में हर दिल अज़ीज बन जाता हूँ। राजा से लेकर रंक तक की खबर रखते हुए भी अगले दिन रद्दी के भाव बिक जाता हूँ। रोज जन्म लेता हूँ सबके काम मैं आता हूँ। […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

ईश्वरीय ज्ञान वेद के जन-जन में प्रचार के लिए समर्पित ऋषि दयानन्द

ओ३म् वेद कहानी किस्से अथवा किसी धर्म प्रचारक मनुष्य के उपदेशों का ग्रन्थ नहीं है अपितु यह इस संसार की रचना करने व इसका पालन कर रहे सर्वव्यापक, सर्वज्ञ, सर्वशक्तिमान एवं सच्चिदानन्दस्वरूप परमात्मा का दिव्य ज्ञान है जो उसने सृष्टि के आरम्भ में चार ऋषियों अग्नि, वायु, आदित्य तथा अंगिरा को अमैथुनी सृष्टि में उत्पन्न […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

हम कहां से आये हैं और हमें कहां जाना है

ओ३म् हम सब मनुष्यों का कुछ वर्ष पूर्व इस संसार में जन्म हुआ है और तब से हम इस शरीर में रहते हुए अपना समय अध्ययन-अध्यापन अथवा कोई व्यवसाय करते हुए अपने सांसारिक कर्तव्यों का निर्वाह कर रहे हैं। जब हमारा जन्म हुआ था तो हम अपने माता के शरीर से इस संसार में आये […]

गीत/नवगीत

गीत – यूपी वाले

हम यूपी वाले हैं सुनो भाई यूपी वाले हैं यंहा पे रहने वालों के अंदाज निराले हैं हम यूपी वाले हैं सुनो भाई यूपी वाले हैं नाम गूंजता है प्रयाग का यंहा बनारस सी धरती लखनऊआ है कानपुर है दुनिया इसपर है मरती ताजमहल है आगरे का मंदिर और शिवाले हैं हम यूपी वाले हैं […]

कहानी

कहानी – मनोरम वादियां

कल्पना और यथार्थ में बड़ा फ़ासला होता है। कल्पना की उड़ान इंसान को मायानगरी में ले जाती है। ऐसी ही  घटना कौशल के साथ घटी । नयना की शादी बड़े धूमधाम से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर कुमार कौशल से हुई। सगाई और शादी के बीच चार महीने का अंतराल था। कौशल की पोस्टिंग झारखंड  में थी । […]

लघुकथा

दरवेश

सोशल मीडिया भले ही कितनी भी लाभदायक क्यों न हो, पर मेरठ के एक युवक तालिब को यह बहुत महंगा पड़ा. यूपी के मेरठ के एक युवक के बारे में सोशल मीडिया पर मेसेज वायरल हो रहा था कि उसकी मौत पबजी गेम खेलते वक्त हो गई है. इस युवक को थाने में आकर कहना पड़ा […]