सतरंगी समाचार कुञ्ज-4

आप लोग जानते ही हैं, कि ‘सतरंगी समाचार कुञ्ज’ में सात रंगों के समाचार हम लिखते हैं, शेष रंगों के समाचार कामेंट्स में आपकी-हमारी लेखनी से लिखे जाएंगे. आइए देखते हैं इस कड़ी के सात रंग के समाचार-

1.मिट्टी के दियों को प्रोत्साहन-
दीपावली / अयोध्या के लिए 4 लाख दीये बना रहे जयसिंहपुर गांव के 40 कुम्हार परिवार, हर दीपक पर 85 पैसे मिलेंगे

जिंदगी में ऐसा कुछ करो,
काम दोनों का चलता रहे,
आंधियां भी चलती रहें
और दिया भी जलता रहे.

राम नगरी की दीपावली को भव्य मनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार इस बार यहां 4 लाख दीये प्रज्ज्वलित करने के लिए जयसिंहपुर गांव के 40 कुम्हार परिवार मिट्‌टी के 4 लाख दीपक बनाने में जुट गए हैं।
दीपक बनाने में जुटे कुम्हार परिवार के सदस्यों ने बताया कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने ऐसे दीये बनाने को कहा है, जिसमें 30 मिली तेल भर सके। यहां के पांच कुम्हारों को सरकार ने इलेक्ट्रिक चाक दिया है, बाकी ने अपनी छोटी मशीनों के चाक पर दीये बनाना शुरू कर दिए हैं। कई लोग तो पारंपरिक चाक पर ही दीये तैयार कर रहे हैं।

 

2.आर्थिक मंदी से निपटने के लिए सामूहिक शादियां-
लेबनान / सामूहिक विवाहों का जोर: एक महीने में ऐसे 4 कार्यक्रम हुए, विदेशी सरकारें भी समर्थन करती हैं

लेबनान को आर्थिक मंदी से निकालने सामूहिक शादियों पर जोर दिया जा रहा है। लेबनान समेत मिडिल ईस्ट (पश्चिम एशिया) के कई देशों में सामूहिक विवाहों का चलन बढ़ गया है। बीते एक महीने में लेबनान में सामूहिक विवाह के चार बड़े कार्यक्रम हुए। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, आर्थिक दबाव और महंगे आयोजन के चलते कई लोग सामूहिक शादी कार्यक्रमों की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। लेबनान ही नहीं बल्कि कई देशों की राजनीतिक पार्टियां इन शादियों के समर्थन में उतरी हैं।

 

3.‘हमारी बेटियां देश का मान बढ़ाएंगीं’-
दुबई / फर्स्ट ग्लोबल चैलेंज में 5 छात्राएं हिस्सा लेंगी, महासागरों की सफाई के लिए रोबोट बनाएंगी
दुबई में 24 से 27 अक्टूबर तक रोबोटिक्स ओलिंपिक ‘फर्स्ट ग्लोबल चैलेंज 2019’ होगा। भारत की ओर से इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए मुंबई की पांच स्कूली छात्राएं जाएंगी। इनकी उम्र 14 से 18 साल है। इन्हें एक ऐसा रोबोट बनाना है, जो महासागरों की सफाई कर सके।
इस साल प्रतियोगिता का विषय समुद्री प्रदूषण पर केंद्रित है। इसका नाम ‘ओशन अपॉर्च्युनिटीज’ है। इसके माध्यम से लोगों को समुद्री जीवन बचाने के लिए जागरूक करने का प्रयास किया जाएगा। इसमें बताया जाएगा कि कैसे दुनिया की आबादी समुद्री जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है। इसमें 193 देशों के 2,000 से ज्यादा छात्राएं शामिल होने वाली हैं।

 

4.शनि के 20 नए चांद: नई खोज-
सौरमंडल / शनि के 20 नए चांद खोजे गए, अब 82 चंद्रमा हुए; बृहस्पति के 79 चंद्रमाओं से ज्यादा संख्या हुई

खगोलशास्त्रियों ने सौरमंडल के प्रमुख ग्रह शनि के 20 नए चांद की खोज की है। इसके बाद इस ग्रह के पास चंद्रमाओं की संख्या 82 हो गई है। ज्यादा चंद्रमाओं के मामले में शनि ने बृहस्पति को पीछे छोड़ दिया है। बृहस्पति के चंद्रमाओं की संख्या 79 है। खगोलशास्त्रियों के अनुसार, शनि का चक्कर लगा रहे छोटे-छोटे चंद्रमाओं की संख्या 100 से अधिक हो सकती है।

 

5.समुद्र के खारे पानी का सदुपयोग-
तकनीक / पांच देशों के रेगिस्तान में वैज्ञानिक सौर ऊर्जा और खारे पानी से उगा रहे फल-सब्जियां
ब्रिटेन की कंपनी ग्रीनहाउस सीवाटर ग्रीनहाउस के वैज्ञानिकों ने रेगिस्तान में समुद्र के खारे पानी और सौर ऊर्जा से फल, खीरा व टमाटर जैसी सब्जियां उगाने की तकनीक विकसित की है। इस कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया, आबूधाबी, सोमालीलैंड, ओमान और टेनेराइफ जैसे सूखे और रेगिस्तानी इलाकों में यह परियोजना शुरू की है।

इन इलाकों में अत्यंत गर्म वातावरण के बावजूद इस तकनीक से यहां हजारों किलो फल व सब्जियां उगाई जा सकी हैं। इसके लिए मोटे गत्ते से खास तरह के कूलिंग हाउस बनाकर खेती की गई।

 

6.अमीर भिखारी
भिखारी की मौत के बाद झोंपड़ी से निकले डेढ़ लाख के सिक्के और 8.7 लाख की एफडी

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में शुक्रवार को गोवंडी स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर एक भिखारी की मौत हो गई। रेलवे पुलिस ने भिखारी की पहचान 82 साल के बिरभीचंद आजाद के रूप में हुई है। पुलिस इस भिखारी के घर पहुंची तो उसे 1.77 लाख रुपये के सिक्के और 8.77 लाख रुपये के फिक्स्ड डिपॉजिट के पेपर्स मिले। इस व्यक्ति ने पैन कार्ड, आधार कार्ड और सीनियर सिटिजन कार्ड भी बनवा रखा था।

 

7.आलू-पूरी खाइए, ऐथलीट्स जैसी ऊर्जा पाइए यानी स्वास्थ्य बनाइए
आलू-पूरी खाने से मिलती है ऐथलीट्स जैसी एनर्जी!-

इंडियन फूड टेस्टी होने के साथ न्यूट्रिशनल वैल्यू में कई तरह से फायदेमंद होता है बशर्ते इसे सही समय और लिमिटेड क्वॉन्टिटि में खाया जाए। कुछ फूड कॉम्बिनेशन लोगों को सिर्फ टेस्टी लगने के चलते पसंद होते हैं जैसे दाल-चावल लेकिन न्यूट्रिशन के मामले में भी ये काफी आगे होते हैं। ऐसा ही एक फूड कॉम्बिनेशन है आलू-पूड़ी। एक रिसर्च स्टडी की मानें तो आलू-पूड़ी में उतना दम होता है जितना कि मार्केट में बिकने वाले ऐथलीट्स के प्रदर्शन को बढ़ाने वाले महंगे कार्बोहाइड्रेट जेल में। यह रिसर्च अमेरिका की इलिनॉयस यूनिवर्सिटी में हुई। इसमें शरीर में ऊर्जा बढ़ाने वाले कुछ टेस्टी ऑप्शंस पर रिसर्च की गई थी। रिसर्च पेपर में लिखा गया, आलू कम लागत में मिलता है। यह जरूरी पोषक तत्वों और कार्बोहाइड्रेट का बढ़िया स्त्रोत है। वहीं कार्बोहाइड्रेट जेल में मिठास ज्यादा होती है इसकी तुलना में आलू दौड़ में भाग लेने वाले ऐथलीट्स के लिए जबर्दस्त ईधन का काम करता है।

कुछ फटाफट सुर्खियां-
1.महिला क्रिकेटर को मैदान में मिला शादी का ऑफर, फिल्मी प्रपोजल को यूं कहा- हां

2.ट्रैफिक जाम ने की पुलिस की मदद, सस्ते में दबोचा गया किडनैपर

3.आजमगढ़: रिश्वत देने से इनकार करने पर लेखपाल ने किसान को पीटा

4.महात्मा गांधी के विचारों को लेकर साथ दिखे फिल्मी सितारे, पीएम मोदी ने भी शेयर किया विडियो

5.ओयो अब शादी के लिए सामान, सेवाओं के खुदरा स्टोर कारोबार में

6.पहली बार जॉनसन ऐंड जॉनसन ने बेबी पाउडर को वापस मंगाया, कैंसरकारक तत्व के मिले सबूत

7.देश में बिक रहा 93% दूध सेफ है, लेकिन क्वॉलिटी पर खरा नहीं

 

आशा है आपको सतरंगी समाचार की यह कड़ी भी पसंद आई होगी. आप भी कामेंट्स में विभिन्न रंगों के ऐसे अनोखे-रोचक-जागरूकता से ओतप्रोत सकारात्मक समाचार लिख सकते हैं.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।