कैलीफोर्निया की डाॅ. शकुंतला बहादुर के सम्मान में काव्य गोष्ठी

चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, Kamlesh Dwivedi सहित, लोग बैठ रहे हैंबे एरिया, कैलीफोर्निया की वरिष्ठ साहित्यकार डॉ.शकुंतला बहादुर आईआईटी, कानपुर में अपने पुत्र के पास आई थीं. कानपुर के हास्य कवि डाॅ.कमलेश द्विवेदी के आग्रह पर वह उनके निवास पर पधारीं जहाँ उनके सम्मान में कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया. डाॅ.शकुंतला जी मूलतः लखनऊ की रहने वाली हैं.वह वहां पर महिला डिग्री काॅलेज, में संस्कृत की विभागाध्यक्ष थीं और प्रिंसिपल होकर रिटायर हुई थी. पिछले लगभग 20 वर्षों से कैलीफोर्निया में रहकर वह इंडियन कम्युनिटी सेंटर, विश्व हिंदी ज्योति और उत्तर प्रदेश मंडल ऑफ अमेरिका जैसी अनेक संस्थाओं के माध्यम से हिंदी के प्रचार-प्रसार में संलग्न है.
चित्र में ये शामिल हो सकता है: 3 लोग, मुस्कुराते लोग, लोग खड़े हैं और अंदर

डॉ.शकुंतला जी के सम्मान में आयोजित कवि गोष्ठी की अध्यक्षता विकासिका के संस्थापक डॉ. विनोद त्रिपाठी ने की. मुख्य अतिथि थे श्री कृष्णकांत अवस्थी. सर्व प्रथम रजनी द्विवेदी और अन्य कवि मित्रों ने डॉ.शकुंतला जी को शाल,माला और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया.तत्पश्चात शकुंतला जी की ही वाणी वंदना से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ. इस गोष्ठी में राजेंद्र तिवारी, श्रवण शुक्ल, डॉ. नारायणी शुक्ला, डॉ.राजीव मिश्र, सुरेश साहनी और दिव्यांश द्विवेदी ने काव्य पाठ किया.अंत में डॉ.शकुंतला जी ने विविध रंगों की कविताएं प्रस्तुत कर सबका मन मोह लिया.संचालन और धन्यवाद ज्ञापन डाॅ.कमलेश द्विवेदी ने किया.