शिशुगीत

नन्ही चिड़िया

Image result for नन्ही चिड़िया

नन्ही-सी मैं चिड़िया हूं,
अपनी ममा की गुड़िया हूं,
लगती हूं मैं भोली-सी,
बड़ी गजब की पुड़िया हूं.
अभी तलक मैं उड़ नहीं पाती,
फुदक-फुदक कर चलती हूं,
जब उड़ने की बारी आए,
देखूं कहां निकलती हूं.
ममा ही मेरी टीचर भी है,
बहुत-से पाठ पढ़ाती है,
अपने देश से प्यार करने का,
प्यारा सबक सिखाती है.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।

One thought on “नन्ही चिड़िया

  1. ओ प्यारी-सी नन्ही चिड़िया !
    मेरे घर में आ जाना,
    तुम भी अपना घर बना लो,
    मन मेरा बहला जाना.

Leave a Reply