कविता

राष्ट्र बचाए रखना

है गिरधर मेरे राष्ट्र को बचाए रखना

इस पर सदा अपनी कृपा बनाये रखना

कल कल सरिता बहती जाए

जन जन की प्यास बुझाती जाए

सदानीरा इनको बनाए रखना

है गिरधर राष्ट्र को बचाए रखना

सर सरोवर स्वच्छ साफ हो

चहुँ ओर हरियाली हो

हरे भरे वृक्ष हमारे फलदायी हो

खिलते चमन यहाँ बनाए रखना

है गिरधारी राष्ट्र को बचाए रखना

खनिजों से भरपूर धरा हो

सुख सम्पदा परिपूर्ण हो

उत्तर में नगराज हिमालय

दक्षिण में हिद महासागर हो

हर विपत्ति को मेरे राष्ट्र से दूर रखना

है गिरधारी राष्ट्र को बचाए रखना

सभ्य संस्कार वान नागरिक हो

संस्कृति हमारी सर्वोपरि हो

रामायण घर घर में हो

त्याग ,ममता,दया सब में हो

महाभारत से भारत को बचाए रखना

है गिरधारी राष्ट्र को बचाए रखना।

— गरिमा राकेश गौतम

परिचय - गरिमा राकेश गौतम

गरिमा जेरोक्स & स्टेशनर्स 505 महावीर नगर द्वितीय कोटा राजस्थान mail-garimazerox505@gmail.com Mo.no-7742735100, 6376033207

Leave a Reply