गीतिका/ग़ज़ल

बोल प्यार के बोल सखे

मन की गाँठे खोल सखे
बोल प्यार के बोल सखे
..
ये सच है कि होता है
सपनों का भी मोल सखे
..
उसकी आँखें कहती हैं
कुछ न कुछ है झोल सखे
..
बात कभी तो मान मेरी
मत कर टालमटोल सखे
..
धन दौलत के पलड़े पर
रिश्तों को मत तोल सखे
..
रमा कहे तो मैं खोलूँ
आज सभी की पोल सखे
..
रमा प्रवीर वर्मा

परिचय - रमा वर्मा

श्रीमती रमा वर्मा श्री प्रवीर वर्मा प्लाट नं. 13, आशीर्वाद नगर हुड्केश्वर रोड , रेखानील काम्प्लेक्स के पास नागपुर - 24 (महाराष्ट्र) दूरभाष – ७६२०७५२६०३

Leave a Reply