समाचार

डॉ अवध बने अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के स्वयंसेवक

मेघालय में कार्यरत डॉ अवधेश कुमार अवध को अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अन्तर्गत विशेष निगरानी मिशन का वॉलंटियर (स्वयं सेवक) बनाया गया।
चन्दौली, उत्तर प्रदेश के मूल निवासी डॉ अवध मेघालय के एक निजी सीमेंट कम्पनी में एक अभियंता के रूप में कार्यरत हैं। एक साहित्यकार, पत्रकार, सम्पादक तथा समाजसेवी के रूप में भी बहुत सम्मानित हैं। समाज के समसामयिक विषयों पर न सिर्फ नियमित लेखन करते हैं बल्कि अन्य लोगों को भी प्रोत्साहित करते रहते हैं। इनके सामाजिक समर्पण को देखते हुए ही इन्हें स्वयंसेवक बनाकर सम्मानित किया गया। अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से सम्बंधित विशेष निगरानी मिशन का मुख्य कार्यालय यूरोप महाद्वीप में चेक गणराज्य की राजधानी प्राग है। यहाँ से डॉ अवध को तत्सम्बंधी ऑनलाइन कॉर्ड मिला। इस सम्मानित दायित्व के लिए लोगों की लगातार बधाइयाँ मिल रही हैं। डॉ अवध ने एक सवाल का जवाब देते हुए बताया कि मानव का प्रथम कर्त्तव्य मानव के मानवाओचित अधिकार को सुनिश्चित करना है। मेरी प्राथमिकता इसे हर हाल में बनाये रखने की है।

One thought on “डॉ अवध बने अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के स्वयंसेवक

Leave a Reply