लेख विविध

नदियों की सफाई

बिहार के मनिहारी गंगा और कोशी घाटों तथा बोचाही पोखर सहित प्राणपुर में महानंदा घाट की सफाई सहित घर की सफाई से लेकर रास्तों और घाटों की सफाई से सभी जगह स्वच्छता परिलक्षित हो रही है।

अभी के त्योहारी महौत्सव में कोई बिहार आकर तो देखे ! लोक आस्था के इस महापर्व ‘छठ’ में हुई साफ़-सफाई मंत्रमुग्ध कर देती है । जिसतरह से गंगा घाटों, कोशी घाटों सहित अन्यान्य नदी-झीलों आदि की सफाई हुई है ।

काश ! ये पार्विक-जनअभियान इस महापर्व के बाद भी जारी रहे, तो ‘नमामि गंगे’ कार्यक्रम सफलीभूत हो जाएगा । कोई सुकार्यक्रम पक्ष-प्रतिपक्ष के सामूहिक प्रयास से ही आगे बढ़ सकता है । यह सफाई आगे भी जारी रहने चाहिए ।

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply