सामाजिक

छात्रों के लिए कैरियर काउंसलिंग का महत्व

क्या आपको याद है जब आपने खाना बनाना या साइकिल चलाना सीखना शुरू किया था? खैर, यह आसान नहीं था, खासकर जब आपको सीखाने वाला कोई नहीं था। अब, मान लें कि अगर किसी ने आपको इन चीजों के लिए सहायता की होती तो ये काफी आसान हो गया होता।
ठीक उसी तरह, जब छात्र सही करियर का रास्ता चुनने की बात करते हैं, तो वे काफ़ी उलझन में होते है। ऐसे मे न तो वे अपने लिए सही करियर का चुनाव करने की स्थिति मे होते हैं , बल्कि उन पर मनोवैज्ञानिक दबाब भी होता है।
प्रत्येक इंसान अपनी क्षमता, प्रतिभा और रुचि के कारण बाकी लोगो से अलग होता है। हर व्यक्ति को अपने कौशल , प्रतिभा, योग्यता और जूनून के आधार पर ही अपना पेशा चुनना चाहिए। सच तो यह है कि सिर्फ पैसा कमाना और अमीर बनना ही सफल आदमी की परिभाषा नहीं है। यही कारण है कि करियर काउंसलिंग ज़रुरी हो जाता है और इसीलिय इसकी मांग हमारे देश मे काफी बढ़ती जा रही हैं।
करियर काउंसलिंग क्या है?
करियर परामर्श किसी व्यक्ति की क्षमता, प्रतिभा और उसकी रुचि के क्षेत्र, को समझने और उसी आधार पर उसके लिए सही कैरियर हेतु सलाह देने की एक प्रक्रिया है। यह व्यक्ति को उसके कौशल और रुचि के अनुसार सही कैरियर विकल्पों को समझने और आगे बढ़ाने में मदद करती है। हम सभी को अपने जीवन के किसी न किसी मोड़ पर करियर काउंसलिंग या मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। यह हमे हमारी रुचि के अनुसार एक उचित पेशा या व्यवसाय के तय करने में सहायता करती है।
हमें करियर काउंसलिंग की आवश्यकता क्यों है?
हमें करियर काउंसलिंग की आवश्यकता निम्लिखित कारणों से होती है। करियर काउंसलर किसी व्यक्ति को सही करियर के चुनाव मे मदद करता है जो उसके कौशल और रुचि के अनुसार उसके लिए सबसे उपयुक्त होता है।

एक करियर काउंसलर किसी व्यक्ति के अन्दर छिपी प्रतिभा या उसकी रुचि को सामने लाने में मदद करता है।
इस प्रक्रिया से गुजरने के बाद एक व्यक्ति को अपनी ताकत और अपनी कमजोरी का एहसास हो जाता और उस पर कैसे काम करना है इसकी जानकारी मिल जाती हैं। यह हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाता है। एक करियर काउंसलर उचित परामर्श देने के साथ साथ सही मार्गदर्शन प्रदान करता है और एक व्यक्ति को उसकी रुचियों के बारे में अवगत करा सकता है जो उसके तनाव को कम करता है।
एक करियर काउंसलर व्यक्ति को खुद के बारे में पूरी तरह से समझने का अवसर प्रदान करता है और सही निर्णय लेने के लिए आवश्यक सभी जानकारी भी उप्लब्ध कराता है। इतना ही नहीं अपने विशेषज्ञ ज्ञान के आधार पर वह आपके व्यक्तित्व को निखारने की भी कोशिश करता है।
यह काम किस प्रकार होता है?
करियर काउंसलिंग में एप्टीट्यूड टेस्ट और व्यक्तित्व परीक्षण शामिल होते हैं जिसे मनोविज्ञान के आधार पर विकसित किया गया होता है,जो काउंसलर को छात्रों के व्यक्तित्व और योग्यता के परिणाम के आधार पर सर्वश्रेष्ठ कैरियर सलाह देने में मदद करता है। मानव की क्षमताएँ अनंत हैं जिनकी गणना असंभव है और हम यह नहीं आंक सकते कि कोई क्या कर सकता है। हर किसी के पास अद्वितीय विशेषताएं, प्रतिभा, सामर्थ्य और कुछ कमजोरियां भी होती हैं। करियर काउंसलिंग की मदद से गुणों के इन अनूठे चक्रव्यूह को भेदा जा सकता हैं।

करियर का चयन करने के लिए एक सही विकल्प तैयार करना?
करियर काउंसलिंग के सत्र छात्रों को विभिन्न पाठ्यक्रमों और शैक्षिक विकल्पों और इसके द्वारा प्रदान किए जाने वाले करियर से अवगत कराते हैं, और फिर छात्रों को एक सही विकल्प बताते है, जो करियर पथ में परिवर्तन के जोखिम से बचने में मदद करता है।
इसीलिये करियर संबंधी निर्णयों पर विचारों को व्यवस्थित करने में मदद के लिए करियर परामर्श और मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। यह बेशक आत्मविश्वास और मनोबल को बढ़ायेगा और छात्रों को नई दिशा प्रदान करेगा जो पूरे समाज के लिए फायदेमंद होगा।

नौकरी से संतुष्टि?
अगर हम ऐसा पेशा चुनते हैं जो हमारे व्यक्तित्व और योग्यता से मेल खाता हो, तो वह व्यावसायिक सफलता और लोकप्रियता में बदल जाता है। करियर काउंसलिंग का मुख्य उद्देश्य छात्रों को उनके कौशल और उनकी नौकरी की उम्मीदों से मेल खाने वाले क्षेत्र को चुनने में मार्गदर्शन करना है। इस प्रकार, करियर परामर्श के मार्गदर्शन के साथ, लगभग हर उम्मीदवार सही करियर का चयन करता है, और अपने आप को सर्वश्रेष्ठ बनाता हैं, जो अंततः उसे सफलता की ओर ले जाता है।
यह एक सच्चाई हैं कि भारत में कुछ ही स्कूल छात्रों को करियर परामर्श की सुविधा प्रदान करते हैं, यदि आपका स्कूल पेशेवर काउन्सलर प्रदान नहीं करता है, तो आप हमेशा स्वतंत्र करियर काउन्सलर की मदद ले सकते हैं।
इससे आप उस भीड़ का हिस्सा होने से बच सकते है जो बिना किसी परामर्श के अपने करियर का चयन कर लेते हैं और बाद में सारी जिंदगी पछताते हैं।
कई करियर काउंसलर ऑनलाइन करियर काउंसलिंग और एप्टीट्यूड टेस्ट की सुविधा प्रदान करते हैं जो छात्रों को उनके सामर्थ्य को जानने में मदद करती हैं। इस जानकारी का उपयोग करियर काउंसलर्स के द्वारा छात्रों को सर्वोत्तम पाठ्यक्रमों / करियर की दिशा में मदद करने के लिए किया जाता है, जिससे छात्रों को सही करियर के चुनाव मे सहायता मिलती है।

— सोनल सिन्हा

परिचय - सोनल सिन्हा

फाउंडर - MyBhkFlat Mumbai

Leave a Reply