अन्य लेख विविध

अनट्रेंड और नकली पत्रकार घूम रहे हैं !

कितने पत्रकार और संवाददाता हैं, जो BJ व MJ हैं ? गाँव-मोहल्ले व ज़िला स्तर के पचास फीसदी ये कलमकार मैट्रिक से स्नातक तक तो हो ही जाते हैं, स्नातकोत्तर कम हैं, किन्तु BJ और MJ की स्थितियाँ दशमलव भर ही हैं ! नब्बे फ़ीसदी ये लोगन नहीं हैं !

पत्रकार का अर्थ ‘पत्र’ के सृजनकार व रचनाकार से है, विशेषार्थ ‘संपादक’ ही पत्रकार है । समाचार पत्रों के लिए समाचार संकलन करनेवाले ‘संवाद-सूत्र’ व संवाददाता व स्ट्रिंगर होते हैं । कितने हैं, जो 10 समाचार एजेंसियों के नाम बता दें? कितने हैं, जो अपने-अपने समाचार पत्र के 10 पूर्व संपादक के नाम बता दें ?

कितने हैं, जो यह बता दे कि भारत में पत्रकारिता संविधान के किस अनुच्छेद के अंतर्गत हैं ? ऐसे कितने संवाददाता हैं, जो PTI, PCI, IPU इत्यादि के वर्त्तमान अध्यक्ष व शब्द-विस्तार बता दे ? कोई बिहार के प्रथम उर्दू, मैथिली और संताली समाचार पत्र के नाम बता दे ? ‘मोसाद’ क्यों बना, कितने को पता होगा ?

‘भारतीय पत्रकारिता के जनक’ और ‘भारतीय पत्रकारिता के राजकुमार’ कौन हैं? ‘जागरण’ के प्रथम संपादक कौन थे ? पत्रकारिता में येलो, रेड क्या है ? हंस, बगुला, बया क्या है ? ऐसे प्रश्न हमारे खोजी अभियान चलानेवालों से प्रतिपक्ष भी पूछ सकता है, क्यों ? है ना !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply