शिशुगीत

पापड़

पापड़वाला जब कहता है,मूंग और उड़द दाल के क्रिप्सी पापड़ ...
‘पापड़ ले लो’, ‘पापड़ ले लो’,
मैं ममी से तब कहता हूं,
‘पैसे दे दो’, ‘पैसे दे दो’.
खस्ता-खस्ता पापड़ लेकर,
खूब मजे से खाता हूं,
पर फिर जब मिर्ची लगती है,
‘पानी-पानी’ चिल्लाता हूं.