लघुकथा

लेमिनेशन

लोग अक्सर यह पूछते हैं- यार फेसबुक पर चेहरा क्यों नहीं लगाते हैं, तो उन्हें मैं कहना चाहता हूँ कि शब्दों से मैं गोरा हूँ लेकिन चेहरे से काला हूँ।
कुछ लोग तो यहाँ तक कहते हैं कि मैं दिल से काला हूँ…उनके अनुसार सच हो, क्योंकि उन्होंने इसी नजरिये से मुझे देखा हो, लेकिन धन्यवाद देना चाहूँगा कि ऐसे मित्र काफी आलोचना करते हैं, बावजूद स्नेह भी उड़ेलते हैं… अगर दिल का लेमिनेशन होता तो मैं इन्हें गोरे रंगों से रंगा कर leminate कर जरूर रख लेता !
सानंद की इन बातों पर उनके दोस्त यही कहते हैं, ‘ तभी तो भाई, तुमसे जो एक बार बात कर ले, वे तुम्हे अपने अच्छे दोस्तों के लिस्ट में शामिल कर लेते हैं !’
मैं उन दोस्तों का शुक्रिया अदा करना चाहूँगा, जो कि वे मुझे मुझसे ‘बेहतर’ समझते हैं।
यह कहकर सानंद चुप हो गए।

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply