अन्य

डायरी के कुछ पिछले पृष्ठ

विश्व के सभी दिव्यांग खिलाड़ियों को मेरी तरफ से अशेष शुभकामनाएं. आज से ब्राजील के रियो डि जेनेरियो में वर्ष 2016 में पैरालम्पिक (उच्चारण जो हो) आरम्भ है और मैं भारतीय होने के नाते , एतदर्थ इस लोभवश अपने खिलाड़ी भाई-बहनों को यह शुभकामना देता हूँ कि वे काफी अच्छा प्रदर्शन कर सामान्य ओलिंपिक में हुए औसत प्रदर्शन को धत्ता बताते हुए मैडल हासिल करेंगे (और किए भी). बहुत-बहुत शुभ मंगलकामनाएं. जैसे-

‘चंद्रयान-1 से
चंद्रयान-2 आगे रहा !
संपर्क टूटना…
उम्मीद टूटना नहीं है !
ज़िन्दगी में
उतार-चढ़ाव आते रहते हैं !’
तो फिर-
‘चंद्रयान-2
चंद्रमा की कक्षा में
अब भी,
यह दक्षिण ध्रुव को
छुएगा भी,
पर कन्ट्रोल हम
नहीं कर पाएंगे !
संपर्क टूटना यही है !’

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply