सामाजिक

अपनी-अपनी आस्था

हमारे क्षेत्र में भाद्रपद शुक्ल एकादशी को लोक पर्व ‘करमा-धर्मा’ मनाए जाते हैं, जो कुंवारी संतान करते हैं, जिनमें बहन और भाई दोनों निर्जला उपवास रखते हैं और रात में ‘झूड़’ नामक पौधे की पूजा-अर्चना करते हैं । यह ब्राह्मण व पुरोहितविहीन पूजा है । पूजा में करम-धरम नामक दो भाइयों के आपसी प्रेम को लिए लोककथा का पाठ होता है । पूजा सम्पन्न के बाद बहन-भाई सिर्फ फलाहार करते हैं । ऐसे कुंवारे-कुँवारी व्रतियों को अंतरतम से व हृदयश: शुभकामनाएं !

••••••
मुस्लिम बहनों को इसबार के ‘मुहर्रम’ (muharram) 2018 पर उनके मोदी भाई ने अच्छा तोहफा दिए हैं ! एकतरफा तलाक को महामहिम महोदय ने न केवल ‘लॉक’ किया, अपितु अधिसूचना पर हस्ताक्षर कर पुरुष वर्चस्ववादी को ‘ब्लॉक’ कर दिए ! सभी मुस्लिम बहनों और सुधरे भाइयों को मुहर्रम की हृदनायें !
••••••
विकट अमावस्या है, महालया है । देवी माँ दुर्गा की आराधना लिए नवरात्र का आरंभ…. । अभीष्ट सिद्धि की प्राप्ति के लिए उपासक ‘नवरात्र’ के प्रसंगश: माँ दुर्गा की पूजा-अर्चना करते हैं। एतदर्थ, माँ दुर्गा पूजनोत्सवारम्भ पर आस्थोपासकों को श्रद्धापूरित शुभकामनाएं !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply