राजनीति

मूक-वधिर दिवस

अरे भाई, मैं तो उत्ती बड़ाई के अभीष्ट तो नहीं हूँ !

हाँ, अनुजसम श्री धीरज कुमार निर्भय जी काफी योग्य अन्वेषक हैं और मनिहारी की पावन धरती से हैं । कई डिग्रियाँ उनके साथ है, मगर मितभाषी हैं ! बौद्ध साहित्य पर अच्छी पकड़ है, नेट उत्तीर्ण और इसी साहित्य पर दिल्ली विश्वविद्यालय से Ph D कर रहे हैं ! इस महत्वपूर्ण शोध से पार पाकर केंद्रीय विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफ़ेसर बने, मेरी स्वरनिनाद से यही कामना है, शेष तो पाथेय है !
••••••
क्या संयोग है, 26 सितम्बर को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह का जन्म दिवस है, तो ‘विश्व मूक-बधिर दिवस’ भी है ! 86 वें जन्मदिवस पर न-असरदार सरदार सर को अशेष मंगलकामनाएँ !
सदानंद की ओर सदाबहार ‘देवानन्द’ के जन्मदिवस (26 सितम्बर) पर सभी शुभेच्छुओं को शुभमंगलकामनाएँ!

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply